जर्मनी में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, 28 मार्च तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, कुछ जगहों पर ढील

जर्मनी मं 28 मार्च तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

जर्मनी में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन को 28 मार्च तक के लिए बढ़ाया गया है। यहां पर कई जगहों पर लॉकडाउन नवंबर से तो कुछ जगहों पर दिसंबर से लॉकडाउन जारी है। ये फैसला राज्‍यों के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया है।

Kamal VermaThu, 04 Mar 2021 01:09 PM (IST)

बर्लिन (रॉयटर्स)। जर्मनी लगातार एक वर्ष बाद में न सिर्फ कोरोना महामारी से जूझ रहा है बल्कि यहां पर इसके मामलों में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। इसकी वजह से यहां पर लगे लॉकडाउन को और तीन सप्ताह तक बढ़ाकर 28 मार्च तक के लिए कर दिया गया है। आपको बता दें कि जर्मनी उन देशों में शामिल है जहां पर इस महामारी का विस्‍तार शुरुआत में तेजी से हुआ था। इसके बाद इसमें गिरावट आई लेकिन यहां पर लगातार इसके मामले फिर बढ़ रहे हैं। जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल कई बार इस बात को दोहरा चुकी हैं कि लोगों की लापरवाही दूसरों के लिए समस्‍या बन रही है। उन्‍होंने इसको लेकर कई बार अपील भी की है कि लोग कोविड-19 की रोकथाम के लिए बनाए गए सभी नियमों का कड़ाई से पालन करें। इसके लिए सरकार ने स्‍थानीय प्रशासन को भी जरूरी आदेश तक जारी किए हैं। इसके बाद भी वहां पर बढ़ते मामले लगातार चिंता का सबब बने हुए हैं।

मामलों को बढ़ता देख ही एक बार फिर से लॉकडाउन की समयसीमा को बढ़ाया गया है। हालांकि सरकार ने इस दौरान कुछ जगहों पर कुछ छूट देने की भी बात कही है। बुधवार को देश में बढ़ते मामलों को देखते हुए मर्केल ने 16 राज्यों के गवर्नरों से मैराथन बातचीत की थी। इस दौरान उन उपायों पर भी बात की गई जिनसे देश को वापस पटरी पर लाया जा सकता है। आपको बता दें कि जर्मनी में पिछले सप्‍ताह ही प्राथमिक स्‍कूलों को एहतियात के साथ खोलने की घोषणा की गई थी। इसके अलावा कुछ दुकानों को भी खोलने की छूट दी गई थी। फिलहाल लॉकडाउन को बढ़ाने के साथ साथ जो नियम इस बारे में तय किए गए हैं वो रविवार से लागू होंगे। मर्केल ने इस बैठक में पाबंदियों को धीरे-धीरे हटाने और स्थिति के मुताबिक पाबंदियों में कमी लाने की भी योजना तैयार की है।

रॉयटर्स के मुताबिक जर्मनी के रॉबर्ट कोच इंस्टिट्यूट के डाटा के मुताबिक 11912 मामले सामने आने के बाद यहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या 2,471,942 हो गई है। वहीं कोरोना की वजह से मरने वालों की संख्‍या 71240 तक पहुंच गई है। अमेरिका में जहां पर मामले एक बार फिर से बढ़ रहे हैं वहीं अब तक केवल 5 फीसद लोगों को ही कोरोना वैक्‍सीन की खुराक दी जा सकी है।

बैठक के बाद मर्केल ने पत्रकारों को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि महामारी को रोकने के लिए जितनी प्रगति की है उसको कम नहीं होने देना है। यदि ऐसा हुआ तो अब तक की सारी कोशिशों पर पानी फिर जाएगा। उन्‍होंने देशवासियों को जर्मनी में तीसरी लहर के लिए भी आगाह किया है। उनका कहना है कि देश में महामारी की तीसरी लहर आने के भी एविडेंस मिले हैं। उन्‍होंने देशवासियों वादा किया है कि इस बार का वसंत पिछली बार से काफी बेहतर होगा। आपको बता दें कि मार्च-अप्रेल-मई में जर्मनी कोरोना महामारी के मामले में विश्‍व के टॉप-5 देशों में शामिल था।

एंजेला मर्केल का कहना है कि जहां जहां पर संक्रमण के मामले कम आए हैं वहां पर दुकानें, संग्रहालय और अन्य केन्द्र सीमित समय के लिए खुलेंगे। गौरतलब है कि जर्मनी में अधिकतर दुकानें 16 दिसंबर को लगे लॉकडाउन से ही बंद हैं। इसके अलावा नवंबर 2020 से वहां पर रेस्तरां, बार, स्‍पोर्ट्स सेंटर बंद हैं। सरकार ने होटलों को सशर्त खोलने की अनुमति दे रखी है। इस दौरान वो केवल बिजनेस के लिए आने वाले यात्रियों को ही अपने यहां पर रुकने की अनुमति दे सकते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.