भारत और चीन से दोस्ती विदेश नीति के लिए सबसे अहम : नेपाल

नेपाल के विदेश मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों के खाके के रूप में इन सिद्धांतों की प्रासंगिकता वर्तमान संदर्भ में अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांत और उद्देश्य गुटनिरपेक्षता अंतरराष्ट्रीय कानून और विश्व शांति के मापदंड हमारी विदेश नीति के आधार हैं।

Monika MinalWed, 29 Sep 2021 02:27 AM (IST)
भारत और चीन से दोस्ती विदेश नीति के लिए सबसे अहम : नेपाल

संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र। नेपाल के नए विदेश मंत्री नारायण  खड़का ने कहा है कि नेपाल की अपने दोनों पड़ोसी देशों भारत और चीन के साथ मित्रता उसकी विदेश नीति के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। खड़का ने सोमवार को 76वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम चर्चा के अंतिम दिन कहा कि विश्व को लेकर नेपाल का दृष्टिकोण सभी के साथ मित्रता और किसी से शत्रुता नहीं के सिद्धांत पर आधारित है।

विदेश मंत्री ने आगे कहा कि नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के नेतृत्व वाली सरकार संप्रभु समानता, आपसी सम्मान और साझा हित के आधार पर विदेश नीति को आगे बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्ध है और वह वृहद अंतरराष्ट्रीय समुदाय में सभी मित्रवत देशों के साथ संवाद कायम रखती है। खड़का ने कहा, हमारे दोनों पड़ोसियों भारत और चीन के साथ हमारी मित्रता हमारी विदेश नीति को आगे बढ़ाने के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। यह नीति नेपाल के प्रबुद्ध पुत्र भगवान बुद्ध की शिक्षाओं से प्रेरित शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के पांच सिद्धांतों, पंचशील पर आधारित है।

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इन अकल्पनीय समस्याओं का सामना करने के लिए सहिष्णुता एवं सद्भाव से काम करने तथा एक ‘साझा आधार’ खोजने की अपील की। खड़का ने विश्व के नेताओं को संबोधित करते हुए वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में हिमालयी देश की मदद करने के लिए भारत और चीन का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा, ‘हम कोविड संकट से निपटने में मदद करने के लिए हमारे निकट पड़ोसियों भारत एवं चीन के आभारी हैं।’

विदेश मंत्री ने कहा कि महामारी कोविड-19 के खिलाफ नेपाल की लड़ाई में टीके, महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण और दवाएं उपलब्ध कराने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और अन्य ‘मित्र देशों’ को भी धन्यवाद दिया। खड़का ने आतंकवाद के सभी प्रारूपों की निंदा की। उन्होंने सामाजिक द्वेष, सांप्रदायिक संघर्ष और असहिष्णुता को बढ़ावा देने वाली सभी गतिविधियों की निंदा की। खड़का ने परमाणु हथियारों के आधुनिकीकरण के माध्यम से हथियारों की दौड़ के नए संकेतों को ‘चिंताजनक’ करार दिया है।

खड़का को 22 सितंबर को नेपाल का विदेश मंत्री बनाया गया। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों के खाके के रूप में इन सिद्धांतों की प्रासंगिकता वर्तमान संदर्भ में अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांत और उद्देश्य, गुटनिरपेक्षता, अंतरराष्ट्रीय कानून और विश्व शांति के मापदंड हमारी विदेश नीति के आधार हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.