बढ़ते संक्रमण की वजह से हांगकांग ने 3 मई तक भारत आने-जाने वाली उड़ानों पर लगाई रोक

बढ़ते संक्रमण की वजह से हांगकांग ने 3 मई तक भारत आने-जाने वाली उड़ानें रोकीं।

भारत में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हांगकांग ने तीन मई तक भारत से आने वाली व जाने वाली सभी उड़ानें रोक दी हैं। नागरिक उड्डयन के सूत्रों ने बताया कि हांगकांग ने इतनी ही अवधि के लिए पाकिस्तान और फिलीपींस के साथ भी हवाई यातायात निलंबित।

Pooja SinghMon, 19 Apr 2021 09:19 AM (IST)

हांगकांग, एएनआइ। भारत में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हांगकांग ने तीन मई तक भारत से आने व जाने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगा दी है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि हांगकांग ने इतनी ही अवधि के लिए पाकिस्तान और फिलीपींस के साथ भी हवाई यातायात निलंबित कर दिया है। हांगकांग सरकार ने यह फैसला तब किया जब विस्तारा एयरलाइंस की दो फ्लाइट से हांगकांग पहुंचे 50 यात्री जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

हांगकांग द्वारा जारी किए गए नियमों के मुताबिक, वहां जाने से अधिकतम 72 घंटे पहले सभी यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच कराकर कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। इससे पहले रविवार को ही हांगकांग सरकार ने मुंबई से हांगकांग के बीच परिचालित विस्तारा एयरलाइंस की सभी उड़ानों को दो मई तक स्थगित करने की घोषणा की थी। यहा फैसला विस्तारा की मुंबई-हांगकांग उड़ान से पहुंचे तीन लोगों के रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद लिया गया था।

बता दें कि भारत अमेरिका के बाद दूनिया में दूसरा सबसे ज्यादा सक्रमित देश है। यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। पिछले दिनों एक दिन में यहां पर 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं, जिसके बाद से भारत सरकार चिंतित है। कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए भारतीय सरकार सख्त भी हो गई है। भारत के अधिकतर राज्यों में वीकेंड लाकडाउन और नाइट कर्फ्यू भी लगाया है ताकी संक्रमण को रोका जा सके।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 73 हजार से अधिक मामले मिले हैं और 1619 लोगों की मौत हुई है। पहली बार एक दिन में इतने ज्यादा लोगों की मौत हुई है। इसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ 50 लाख 61 हजार को पार कर गया है। इनमें से एक करोड़ 26 लाख 53 हजार से ज्यादा मरीज पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं। मरीजों के उबरने की दर गिरकर 86 फीसद पर आ गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.