top menutop menutop menu

1 जून से दक्षिण अफ्रीका में आर्थिक गतिविधियों व अल्कोहल की बिक्री को अनुमति, राष्ट्रपति का ऐलान

जोहान्सबर्ग, प्रेट्र। नॉवेल कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोक के लिए दक्षिण अफ्रीका में लागू लॉकडाउन में अगले माह से ढील दी जाएगी। यह ऐलान देश के राष्ट्रपति साइरिल रामाफोसा (Cyril Ramaphosa) ने रविवार शाम को नेशनल ब्रॉडकास्ट के जरिए किया। इसके तहत देश में अल्कोहल की सशर्त बिक्री और कुछ निश्चित आर्थिक गतिविधियों को अनुमति दे दी गई। लेकिन गॉटेंग प्रांत के इकोनॉमिक हब के तीन व देश के अधिकतर मेट्रोपॉलिटन शहरों को कोविड-19 के लिए हॉटस्पॉट घोषित कर दिया गया है। राष्ट्रपति ने बताया कि पहले दस सप्ताह के लॉकडाउन में ही अन्य देशों की तुलना में दक्षिण अफ्रीका बेहतर देश साबित हुआ।

दक्षिण अफ्रीका में अभी 22,583 संक्रमण की पुष्टि की गई है और इसमें से करीब आधे लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अब तक कुल 429 लोगों की मौत हो चुकी है। राष्ट्रपति ने कहा कि लॉकडाउन से केवल वायरस के फैलने की गति धीमी पड़ सकती है न कि यह पूरी तरह रुक जाएगा। इसके लिए जब तक टीका नहीं आएगा यह थम नहीं सकता है। यहां हॉटस्पॉट (hotspot) का निर्धारण इस आधार पर होता है कि उस इलाके में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं या फिर 1,00,000 की जनसंख्या में पांच से अधिक संक्रमित हों।  हॉटस्पॉट की लिस्ट हर 15 दिन पर चेक की जाती है। 

देश के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा नियुक्त वैज्ञानिकों की एक टीम ने संभावना जताई है कि इस  साल के अंत तक इस घातक वायरस द्वारा  30 लाख लोगों को संक्रमित किया जाएगा।  वहीं 50 हजार  लोगों की मौत निश्चित है। टीम के एक एक्सपर्ट हैरी मॉलट्री (Harry Moultrie) ने कहा, 'वास्तव में हमने ग्राफ को नहीं छिपाया।'  इस टीम द्वारा पेश एक मॉडल के अनुसार जारी लॉकडाउन के कारण संक्रमण के दर में 60 फीसद तक कमी आई है। स्वास्थ्य मंत्री जवेली मखीजे (Zweli Mkhize) ने बताया कि लॉकडाउन के साथ ही हम फिजिकल बैरियर भी तैयार कर  रहे थे ताकि वायरस को फैलने से बचा सके। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.