दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

पाक को सऊदी की ओर से मानवीय मदद, खाना, पानी, स्वास्थ्य योजनाओं को मंजूरी

पाक को सऊदी की ओर से मानवीय मदद, खाना, पानी, स्वास्थ्य योजनाओं को मंजूरी

सऊदी अरब के प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने पाक प्रधानमंत्री इमरान से वार्ता में व्यापार क्षेत्र में चुनौतियों और आतंकवाद के संबंध में भी वार्ता की और पाकिस्तान के वर्तमान हालात को देखते हुए मानवीय दृष्टिकोण से नौ सौ करोड़ की 118 परियोजनाओं को मंजूर किया है।

Monika MinalTue, 11 May 2021 02:43 PM (IST)

दुबई, प्रेट्र : सऊदी अरब ने पाकिस्तान के वर्तमान हालात को देखते हुए मानवीय दृष्टिकोण से नौ सौ करोड़ की 118 परियोजनाओं को मंजूर किया है। ये सभी योजनाएं खाद्य सुरक्षा,पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा से संबंधित हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सऊदी अरब के दो दिवसीय दौरे में यह मंजूरी दी गई।

किंग सलमान मानवीय सहायता और राहत सेंटर के सुपरवाइजर जनरल डा. अब्दुल्ला ने कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए यह सहायता देने का निर्णय लिया गया है। इन सभी 118 परियोजनाओं पर सऊदी अरब 12.3 करोड़ डॉलर (करीब नौ सौ करोड़ रूपये) की मदद करेगा। इसके अलावा किंग ने कोरोना के दौरान 15 लाख डॉलर ( 11 करोड़ रुपये) दवाइयों के लिए मदद दी है।

इस दौरान इमरान खान ने आर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोआपरेशन (ओआइसी) के महासचिव यूसूफ बिन अहमद अल उथाइमीन से भी वार्ता की। उनकी दुनिया के मुस्लिम और गैर मुस्लिम देशों के संबंध में चर्चा हुई। दोनों की चर्चा में ओआइसी का एजेंडा भी शामिल था। सऊदी अरब के प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने पाक प्रधानमंत्री इमरान से वार्ता में व्यापार, क्षेत्र में चुनौतियों और आतंकवाद के संबंध में भी वार्ता की है। पाकिस्तान में आज सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के संक्रमण से देश में 113 मरीजों के मरने के साथ मंगलवार को मृतक संख्या बढ़कर से 19,106 हो गयी है।  वहीं संक्रमण के 3,684 नए मामले आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 864,557 हो गयी है। बता दें कि 2019 के अंत में चीन के वुहान से निकले घातक कोरोना वायरस संक्रमण ने महामारी का रूप धर पूरी दुनिया में तबाही मचा दी है।

उल्लेखनीय है कि अब तक यहां कोरोना वायरस का भारतीय वैरिएंट से जुड़ा कोई मामला सामने नहीं आया है। यहां ब्रिटेन, ब्राजील व दक्षिण अफ्रीकी वायरस स्ट्रेन मिले। पिछले साल अक्टूबर में सबसे पहले महाराष्ट्र में भारतीय वैरिएंट B.1.617 की पहचान हुई थी। ये स्ट्रेन करीब 21 देशों में अब तक पहुंच चुका है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.