top menutop menutop menu

ओमान में COVID-19 के चलते पिछले तीन महीनों में 50,000 से अधिक भारतीयाें को भारत भेजा गया

ओमान में COVID-19 के चलते पिछले तीन महीनों में 50,000 से अधिक भारतीयाें को भारत भेजा गया
Publish Date:Mon, 03 Aug 2020 05:29 PM (IST) Author: Ramesh Mishra

दुबई, एजेंसी। कोरोना वायरस के चलते पिछले तीन महीनों में ओमान में रहने वाले 50,000 से अधिक भारतीयों को चार्टर्ड उड़ानों के जरिए घर भेजा जा चुका है। बता दें तेल से समृद्धि खाड़ी देश ओमान कोरोना वायरस की चपेट में है। पिछले तीन महीनों में यहां कोरोना वायरस का प्रसार तेजी से हुआ। टाइम्स ऑफ़ ओमान ने बताया कि मई के बाद से जब ओमान में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या में तेजी से बढ़ने लगी तो कंपनियों एवं सामाजिक संगठनों द्वारा कुल 190 चार्टर्ड विमानों की व्‍यवस्‍था की गई। इसके जरिए 35,000 भारतीय नागरिकों को उनके वतन वापस भेजा गया।

इसके अतिरिक्‍त भारत सरकार द्वारा आयोजित वंदे भारत मिशन ने 97 उड़ानों में 17,000 भारतीयों को उनके घर रवाना किया गया। गल्फ न्यूज के अनुसार ओमान में भारतीय दूतावास के सकेंड सचिव अनुज स्वरूप ने कहा कि ओमान के वंदे भारत मिशन को 9 मई से शुरू किया गया है। इसके तहत अब तक कुल 105 उड़ानों का संचालन किया गया है, जिसमें हजारों भारतीय नागरिकों को भारत वापस लाया गया है। स्वरूप ने कहा कि भारत सरकार ने आने वाले दिनों में वंदे भारत मिशन के चरण 5 की योजना बनाई है। उन्‍होंने कहा कि वंदे भारत मिशन के तहत कुल 19 उड़ानें अगस्त में निर्धारित की गई हैं। दूतावास ने कहा कि दूतावास द्वारा प्राप्त पंजीकरणों के अनुसार उड़ानें निर्धारित की गई हैं और हम भारतीय नागरिकों की यात्रा को आसान बनाएंगे।  

बता दें कि खाड़ी क्षेत्र में 90 लाख से अधिक भारतीय काम करते हैं। ओमान में भारतीय सबसे बड़ा प्रवासी समुदाय है। ओमान में 7,70,000 से अधिक भारतीय हैं। इनमें से लगभग 6,55,000 कर्मचारी पेशेवर हैं। ओमान भारतीय दूतावास के अनुसार हजारों डॉक्‍टरों एवं भारतीय इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंटेंट, शिक्षक, नर्स वह अन्‍य पेशेवर के रूप में यहां अपनी सेवाएं दे रहे हैं। ओमान में कोरोना संक्रमणों की संख्‍या 79,159 के पार जा चुकी है। इसके चलते अब तक 422 लोगों की मौत हो चुकी है। इसका असर यहां की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है। महामारी की चपेट में बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां जा चुकी है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.