दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

फिलिस्तीनी उग्रवादियों ने इजरायल पर दागे 4 रॉकेट, अभी किसी भी प्रकार के नुकसान की नहीं हुई पुष्टि

फिलिस्तीनी उग्रवादियों ने इजरायल पर दागे 4 रॉकेट, अभी किसी भी प्रकार के नुकसान की नहीं हुई पुष्टि

जेरूसलम में फलस्तीनियों और इजरायलियों के बीच हिंसा भड़कने के बाद संघर्ष बढ़ गया है। पिछले एक माह से शांत रही गाजा पट्टी पर फिर धमाके गूंजने लगे हैं। फलस्तीनी उग्रवादियों ने इजरायल पर चार रॉकेट दागे हैं।

Pooja SinghMon, 10 May 2021 07:53 AM (IST)

जेरूसलम, एएनआइ। फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइली झड़प के बीच संघर्ष बढ़ गया है। पिछले एक माह से शांत रही गाजा पट्टी पर फिर धमाके गूंजने लगे हैं। अब फिलिस्तीनी उग्रवादियों द्वारा इजरायल पर चार रॉकेट दागने की खबर सामने आई है। इजरायल सेना ने इसकी पहचान की है। इस हमले में अभी तक किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई पुष्टि नहीं हुई है।

आधी रात को छोड़े गए रॉकेट

द टाइम्स ऑफ इजराइल (The Times of Israel) और  इजरायली डिफेंस फोर्सेज (Israeli Defence Forces) कि रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार की रात को गाजा पट्टी से अश्कलोन शहर (Ashkelon) और आसपास के समुदायों की ओर दो रॉकेट दागे गए। वहीं अन्य दो रॉकट आधी रात से पहले दागे गए थे। उधर, आइडीफ ने ट्वीट कर बताया कि आतंकवादियों ने गाजा में इजराइल के तरफ  2 रॉकेट छोड़े। इन रॉकेट का धमाका गाजा के अंदर हुआ। इजराइल सेना ने बताया कि इस हमले में अभी फिलहाल किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

7 मई को फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइल पुलिस में झड़प

बता दें कि हाल ही में इजराइल में हिंसक झड़प होने की खबर आई थी। यहां यरुशलम के अल-अक्सा मस्जिद परिसर के बाहर 7 मई, 2021  की देर रात सैकड़ों फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइल पुलिस में भीषण टकराव हो गया था। फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पत्थरों व बोतलों से हमला किया था। वहीं जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने फिलिस्तीनियों पर रबर की गोलियां और ग्रेनेड दागे थे। इजरायल ने भी जवाब में हमला किया। सेना ने कहा है कि फिलहाल गाजा पट्टी पर कोई सुरक्षा पाबंदी नहीं लगाई जा रही है। आमतौर पर यरुशलम में रमजान के महीने में तनाव बढ़ जाता है।

बता दें कि शुक्रवार को नमाज अदा करने के लिए दस हजार से अधिक की संख्या में फिलिस्तीनी लोग अल-अक्सा मस्जिद पहुंचे थे। नमाज के बाद बड़ी संख्या में लोग शेख जर्राह को खाली कराए जाने के विरोध के लिए इकट्ठा हुए थे। इफ्तार के तुरंत बाद ही अल-अक्सा के पास हिंसक झड़प होने लगी। पुलिस ने वॉटर कैनन की मदद से प्रदर्शनकारियों को अलग-थलग करने की कोशिश की थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.