India-Kuwait sign deal: कुवैत में रह रहे भारतीय कामगारों को अब मिलेगा कानूनी संरक्षण, दोनों देशों में हुआ समझौता

भारत और कुवैत ने एक सहमति पत्र पर दस्तखत किया है जिसके तहत इस खाड़ी देश में काम करने वाले भारतीय घरेलू कामगारों को कानून के दायरे में लाया जाएगा। इसके अलावा उन्हें कानूनी संरक्षण भी मिलेगा। तंत्र घरेलू कामगारों को 24 घंटे मदद मुहैया कराएगा।

Bhupendra SinghSat, 12 Jun 2021 03:37 AM (IST)
विदेश मंत्री एस जयशंकर की कुवैत यात्रा के दौरान दोनों देशों में हुआ समझौता।

कुवैत सिटी, एजेंसियां। भारत और कुवैत ने एक सहमति पत्र पर दस्तखत किया है, जिसके तहत इस खाड़ी देश में काम करने वाले भारतीय घरेलू कामगारों को कानून के दायरे में लाया जाएगा। इसके अलावा उन्हें कानूनी संरक्षण भी मिलेगा। इस सहमति पत्र पर भारतीय राजदूत सिबी जार्ज और कुवैत के उप विदेश मंत्री माजदी अहमद अल-दारिफी ने दस्तखत किया। इस दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके कुवैती समकक्ष शेख अहमद नासेर अल-मुहम्मद अल-सबाह भी मौजूद थे।

एक तंत्र की स्थापना की जाएगी, जो घरेलू कामगारों को 24 घंटे मदद मुहैया कराएगा

दोनों मंत्रियों ने सहमति पत्र पर दस्तखत किए जाने का स्वागत किया। सहमति पत्र के अनुसार, एक तंत्र की स्थापना की जाएगी, जो घरेलू कामगारों को 24 घंटे मदद मुहैया कराएगा।

विदेश मंत्री के तौर पर जयशंकर की पहली कुवैत यात्रा, कुवैत में 10 लाख से ज्यादा भारतीय रहते हैं

जयशंकर विदेश मंत्री के तौर पर अपनी पहली कुवैत यात्रा पर गुरुवार को आए थे। कुवैत में 10 लाख से ज्यादा भारतीय रहते हैं। भारत कुवैत के सबसे बड़े व्यापारिक साझेदारों में से एक है और कुवैत भारत के लिए तेल का एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता है।

कुवैत के विदेश मंत्री ने भारत के साथ गहरे संबंधों की सराहना की

कुवैत के विदेश मंत्री शेख अहमद नासेर अल-मुहम्मद अल-सबाह ने भारत के साथ अपने देश के गहरे संबंधों की सराहना की और कहा कि ये द्विपक्षीय संबंध हमेशा ही आगे बढ़ते रहे हैं। उन्होंने दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित होने के 60 साल पूरे होने की पृष्ठभूमि में यह बात कही। कुवैत के विदेश मंत्री ने अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर से यहां मुलाकात की। सरकारी समाचार एजेंसी कुना के मुताबिक सबाह ने कहा कि अनेक क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों में जबरदस्त प्रगति हुई है। भारत के साथ अपने देश के गहरे संबंधों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि ये द्विपक्षीय संबंध हमेशा ही आगे बढ़ते रहे हैं।

विदेश मंत्री ने खाड़ी देशों में भारत के राजदूतों के साथ बैठक की

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने खाड़ी देशों में भारत के राजदूतों के साथ बैठक की और क्षेत्र के लिए विमान सेवा जल्द से जल्द बहाल करने और कोविड-19 के व्यवधान के कारण अलग हुए परिवारों को फिर से मिलाने की व्यवस्था करने समेत कई मुद्दों पर चर्चा की। जयशंकर ने कुवैत में भारतीय दूतावास में अन्य राजदूतों की मौजूदगी में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया। विदेश मंत्री ने ट्वीट किया, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ईरान, कुवैत, ओमान, कतर और बहरीन में भारतीय राजदूतों से सार्थक बैठक की अगुआई की।

दूसरी लहर को रोकने में भारत ने मुश्किल कार्य को संभव कर दिखाया

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कुवैत में चिंतित प्रवासी भारतीयों को आश्वासन दिया कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर कम हो रही है और सरकार ने महामारी को रोकने के लिए मुश्किल दिख रहे कार्य को संभव कर दिखाया। तेल के मामले में धनी इस देश की पहली द्विपक्षीय यात्रा पर यहां पहुंचे जयशंकर बैठकों के समापन पर प्रवासी भारतीय समुदाय को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, कोविड-19 की दूसरी लहर घटने लगी है। मई की शुरुआत की तुलना में अब नए मामलों की दैनिक संख्या कम हो रही है। संक्रमण दर में भी खासी कमी आई आई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.