Indonesian Plane Crash: जावा सागर में मिले मानव शरीर के अंग, दुर्घटनाग्रस्‍त विमान के ब्‍लैक बॉक्‍स से भी मिले सिग्‍नल

इंडोनेशिया की तीसरी सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी श्रीविजय एयर के विमान संख्‍या SJ 182 विमान के दुर्घटनाग्रस्‍त होने की खबर सामने आने के बाद से ही इस विमान में सवार यात्रियों के परिजनों की आंखों से आंसू रुक नहीं रहे हैं।

Kamal VermaPublish:Sun, 10 Jan 2021 10:16 AM (IST) Updated:Sun, 10 Jan 2021 03:50 PM (IST)
Indonesian Plane Crash: जावा सागर में मिले मानव शरीर के अंग, दुर्घटनाग्रस्‍त विमान के ब्‍लैक बॉक्‍स से भी मिले सिग्‍नल
Indonesian Plane Crash: जावा सागर में मिले मानव शरीर के अंग, दुर्घटनाग्रस्‍त विमान के ब्‍लैक बॉक्‍स से भी मिले सिग्‍नल

नई दिल्‍ली (एएफपी)। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के सोकर्णो-हत्‍ता अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे से शनिवार दोपहर को उड़ान भरने वाले श्रीविजय एयरलाइंस के विमान (बोईंग 737-500) के क्रैश होने के बाद से ही बचाव दल लगातार जावा सागर की खाक छान रहा है। एएफपी ने जकार्ता पोस्‍ट के हवाले से बताया है कि राजधानी जकार्ता के समुद्र में तलाश को उतरे बचाव दल के लोगों को हवाई जहाज के मलबे के अलावा शरीर के अंग भी मिले हैं। जकार्ता पुलिस के प्रवक्‍ता के मुताबिक इसमें एक व्‍यक्ति की लाश और कुछ शरीर के अंग शामिल हैं। इस बीच

खोज में लगे इंडोनेशिया की नेवी के जहाज को विमान के ब्‍लैक बॉक्‍स से सिग्‍नल मिले हैं। ये सिग्‍नल 25 मीटर की गहराई से मिले हैं। इसके बाद तलाश तेज कर दी गई है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि इंडोनेशियाई विमानन कंपनियों के सेफ्टी फीचर में नाकाम होने की वजह से पूरे यूरोप ने उनके लिए अपना एयर स्‍पेस बंद कर  दिया था। 2018 में इसमें सुधार के बाद यहां की कंपनियों को ब्‍लैक लिस्‍ट से अलग किया गया था। 

गौरतलब है कि श्रीविजय एयरलाइंस की विमान संख्‍या SJ182 ने जकार्ता एयरपोर्ट से शनिवार दोपहर 1:46 मिनट पर उड़ान भरी थी। दोपहर 2:04 मिनट पर विमान का संपर्क एयर ट्रेफिक कंट्रोलर का सपंर्क टूट गया। ये विमान राजधानी जकार्ता से पोंटियनाक की उड़ान पर था। इस विमान को 90 मिनट के बाद पोंटियनाक के सुपोडियो एयरपोर्ट पर उतरना था। कहा जा रहा है कि एक मिनट में ये करीब 10 हजार फीट तक नीचे आ गया था। क्रैश हुए इस विमान में चालक दल के सदस्‍यों समेत कुल 62 यात्री सवार थे। इनमें 10 बच्‍चे भी शामिल थे। जकार्ता पोस्‍ट की मानें तो इस हादसे में किसी के जिंदा होने की संभावना नहीं है। इंडोनेशिया की सरकार के मुताबिक ये भी वहीं के नागरिक थे।

इस विमान के मलबे की खोज के लिए हेलीकॉप्‍टर, 10 युद्धपोत, सेना के खोजी जवानों के अलावा प्रोफेशन डाइवर्स और स्‍थानीय मछुआरे भी लगे हुए हैं। शनिवार की पूरी रात इस विमान में सवार लोगों के परिजनों के लिए बड़ी भारी कटी थी। यमन जई की पत्‍नी और तीन बच्‍चे भी इस विमान में सवार थे। उनका अब तक कुछ पता नहीं चल सका है। जई ने जकार्ता पोस्‍ट को बताया कि उड़ान से कुछ समय पहले ही उनकी पत्‍नी ने उनकी बेटी की एक तस्‍वीर भेजी थी। एएफपी के मुताबिक खोजी दलों ने हादसे वाले पूरे संभावित इलाके को तीन भागों में बांटा है। फ्लाइट राडार के मुताबिक विमान उड़ान के कुछ ही मिनट बाद करीब 11 हजार फीट पर पहुंच गया था। इसके बाद ये विमान अचानक 250 फीट नीचे की तरफ आ गया और विमान से संपर्क भी टूट गया था।

गौरतलब है कि श्रीविजय एयर के पास करीब 19 बोईंग विमान हैं। ये कंपनी इंडोनेशिया के अलावा दक्षिण पूर्वी एशिया में अपनी सेवाएं देती है। इसके अलावा ये कंपनी नाम एयरलाइंस की पेरेंट कंपनी भी है। 10 नवंबर 2003 को इस कंपनी ने अपनी सेवा देनी शुरू की थी। मौजूदा समय में ये इंडोनेशिया की तीसरी सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी है। इस कंपनी को देश की सिविल एविएशन ऑथरिटी से केटैगिरी-1 का दर्जा हासिल है। जहां तक दुर्घटनाग्रस्‍त विमान की बात है तो आपको बता दें कि इस विमान को 27 वर्ष पुराना बताया जा रहा हे, जबकि एक विमान की उम्र केवल 25 वर्ष की ही होती है। इसका अर्थ है कि कंपनी रिटायर होने की सीमा पार कर चुके विमान के जरिए अपनी सेवा दे रही थी।

ये भी पढ़ें:- 

Sriwijaya Air Crash: 21 वर्ष है बोईंग 737-500 विमान की उम्र, जानें- इस विमान के बारे में और कुछ