VIDEO: देखिए किस एयरपोर्ट पर विमान के उड़ने से पहले ही इंजन में लग गई आग

नई दिल्ली [स्पेशल डेस्क]। सियोल के इंचियोन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर यात्री अपने विमान को रनवे पर लगते हुए देख रहे थे। इसी विमान से उनको यात्रा करनी थी, इसी दौरान अचानक इस विमान के एक इंचन से चिंगारी निकलने लगी और देखते ही देखते इंचन ने आग पकड़ ली। उसके बाद वहां अफरातफरी मच गई। विमान के इंचन में आग लगने की सूचना मिलने के बाद इमरजेंसी स्टाफ को बुलाया गया फिर उन्होंने आग पर काबू पाया। बाद में विमान के यात्रियों को दूसरे विमान से उनके गंतव्य पर भेजा गया। 

ईंधन भरने के दौरान लगी आग 

सियोल के इंचियोन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ईंधन भरने के दौरान आसियाना एयरलाइंस के एयरबस ए 380 में आग लग गई। विमान में आग लगने का यह हादसा HL7652, लॉस एंजिल्स अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (LAX)के लिए OZ 202 उड़ान भरने वाला था। 

दिखा धुआं और चिंगारी 

विमान स्टार्ट-अप परीक्षण के दौरान टर्मिनल के अंदर यात्रियों ने रोल्स रॉयस ट्रेंट 970 इंजन से धुआं और चिंगारी निकलते हुए देखी, उसके बाद वहां काम कर रहे कर्मचारियों को बताया गया, तब उन्होंने अन्य लोगों को इसकी जानकारी दी और आग बुझाने का काम शुरू किया गया। इस विमान में 401 यात्रियों को सफर करना था मगर इसमें कोई भी सवार नहीं था। विमान के इंचन में आग लगने के बाद उसे वहां से हटा दिया गया और 4 घंटे के बाद यात्रियों को दूसरे विमान से भेजा गया। 

तीन महीने में दूसरा हादसा 

यह तीन महीने से भी कम समय में दूसरा मौका है जब विमान के इंजन में ऐसी घटना हुआ है। इससे पहले जुलाई 2019 में, लॉस एंजिल्स, HL7625 एयरलाइन के A380 में से एक विमान को प्रशांत महासागर के ऊपर सात घंटे तक इंजन फेल हो जाने की वजह से चक्कर लगाना पड़ा था। इंजन की विफलता से निपटने के लिए डेक ने इंजन को हटाने और अपने गंतव्य पर जारी रखने का फैसला किया।

दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी एयरलाइन 

Asiana Airlines, बेड़े के आकार के आधार पर दक्षिण कोरिया की दूसरी सबसे बड़ी एयरलाइन है। इनके पास 6 A380 विमानों का बेड़ा है। इस घटना से एक दिन पहले, दक्षिण कोरिया की सुप्रीम कोर्ट ने सैन फ्रांसिस्को में 6 जुलाई, 2013 को OZ 214 की क्रैश लैंडिंग पर जुर्माना के रूप में 45 दिनों के लिए सैन फ्रांसिस्को (एसएफओ) मार्ग पर अस्थायी रूप से आशियाना के इंचियोन को निलंबित करने के एक सरकारी फैसले की पुष्टि की। 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.