पूर्वी चीन सागर में सेनकाकू द्वीप का चीन ने किया सर्वे, जापान के साथ बढ़ा तनाव

जापान चीन के बीच बढ़ा तनाव, इस द्वीप का बीजिंग ने किया सर्वे

सेनकाकू द्वीप जिसे चीन दिआओयू द्वीप बताता है वह जापान के अधिकार में है लेकिन इस द्वीप का लैंडस्केप या भूदृश्य सर्वे बीजिंग ने जारी किया है और एक बार फिर इस पर दावा जताने की कोशिश की है।

Monika MinalThu, 29 Apr 2021 04:33 PM (IST)

बीजिंग, एएनआइ।  जापान के कब्जे वाले सेनकाकू द्वीप को लेकर चीन तनाव बढ़ा रहा है। उसने इस बार द्वीप का लैंडस्केप या भूदृश्य सर्वे जारी किया है। चीन इसको अपना दिआओयू द्वीप बताता है। लैंडस्केप सर्वे जारी करते हुए ड्रैगन ने एक बार फिर इस पर दावा जताने की कोशिश की है। चीन के प्राकृतिक संसाधन विभाग ने सेनकाकू के साथ ही दो अन्य द्वीपों का सर्वे जारी किया है। इस द्वीप पर जापान का कब्जा होते हुए भी चीन और ताइवान दोनों ही अपना अधिकार जता रहे हैं।

इस माह के शुरुआत में जापान के विदेश मंत्री तोषिमित्सु मोटेगी (Toshimitsu Motegi) ने चीन से आग्रह किया था कि वह पूर्वी चीन सागर स्थित सेनकाकू द्वीप के आस-पास जल क्षेत्र में अवैध घुसपैठ न करे और ऐसी गतिविधियों को रोक दे। चीनी मंत्रालय ने कहा है कि हाल के सर्वे से भौगोलिक स्थिति के आकंड़ों में सुधार होगा। इससे दिआओयू द्वीप के प्रबंधन और जलवायु सुरक्षा में सहायता मिलेगी। मंत्रालय ने इस पर रिपोर्ट जारी करते हुए यहां के नक्शे भी भी जारी किए हैं। इसके साथ ही कुछ फोटो भी जारी किए गए हैं। जिनमें सर्वे करने वाला पोत भी दिखाई दे रहा है। ज्ञात हो कि सेनकाकू द्वीप की सीमा में चीन कई बार घुसपैठ कर चुका है। सर्वे और इसकी रिपोर्ट जारी करने से जापान के साथ चीन का तनाव और बढ़ गया है।

वर्ष 1972 से ये द्वीप जापान के अधिकार में है। वहीं, चीन का दावा है कि ये द्वीप उसके अधिकार क्षेत्र में आते हैं और जापान को अपना दावा छोड़ देना चाहिए। इतना ही नहीं चीन की कम्युनिस्ट पार्टी तो इसपर कब्जे के लिए सैन्य कार्रवाई तक की धमकी दे चुकी है। सेनकाकू या दिआओयू द्वीपों की रखवाली वर्तमान समय में जापानी नौसेना करती है। ऐसी स्थिति में अगर चीन इन द्वीपों पर कब्जा करने की कोशिश करता है तो उसे जापान से युद्ध लड़ना होगा।

कुछ समय पहले ही जापान के स्‍थानीय परिषद में चीन और ताइवान के साथ विवादित सेनकाकू द्वीप क्षेत्र में स्थित कुछ द्वीपों की प्रशासनिक स्थिति बदलने वाले विधेयक को मंजूरी मिली थी। इस विधेयक के अनुसार, टोक्‍यो द्वारा नियंत्रित सेनकाकू द्वीप, जिसे जापान में टोनोशीरो तथा ताइवान और चीन में दिआओयू के नाम से जाना जाता है, का नाम बदलकर टोनोशीरो सेनकाकू कर दिया गया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.