एंटोनी ब्लिंकेन होंगे अमेरिका के नए विदेश मंत्री, सीनेट ने दी मंजूरी

अमेरिका के नए विदेश मंत्री के तौर पर एंटोनी ब्लिंकेन का चुनाव

फिलहाल राजनयिक रह चुके डेनियल स्मिथ कार्यवाहक विदेश मंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं। जो बाइडेन ने एंटोनी ब्लिंकेन की नियुक्ति को मंजूरी मिलने तक उन्हें कार्यवाहक विदेश मंत्री बनाया है। बाइडेन पहले ही नए विदेश मंत्री के लिए ब्लिंकेन के नाम की घोषणा कर चुके थे।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 11:34 PM (IST) Author: Neel Rajput

वाशिंगटन, रायटर्स। जो बाइडेन (Joe Biden) के राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद अब अमेरिका के नए विदेश मंत्री का भी चुनाव हो गया है। मंगलवार को यूएस सीनेट में विदेश मंत्री के लिए एंटोनी ब्लिंकेन (Antony Blinken) के नाम पर वोट दिए गए हैं। बता दें कि अमेरिका में राष्ट्रपति के बाद सबसे ताकतवर पद विदेश मंत्री का माना जाता है। डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल में इस पद की जिम्मेदारी माइक पोंपियो संभाल रहे थे। जो बाइडेन पहले ही अगले विदेश मंत्री के तौर पर ब्लिंकेन के नाम की घोषणा कर चुके थे।

बता दें कि फिलहाल राजनयिक रह चुके डेनियल स्मिथ कार्यवाहक विदेश मंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं। जो बाइडेन ने एंटोनी ब्लिंकेन की नियुक्ति को मंजूरी मिलने तक उन्हें कार्यवाहक विदेश मंत्री बनाया है।

एंटोनी ब्लिंकेन से भारत को उम्मीदें

कुछ समय पहले एंटोनी ब्लिंकेन ने कहा था कि भारत के साथ सहयोग की सफल कहानी है और वो जारी रहेगी। इस दौरान उन्होंने आक्रामक चीन से सतर्क रहने की भी बात कही थी। ब्लिंकेन ने कहा था कि अमेरिकी प्रशासन ने बड़ी सफलता के साथ भारत के साथ संबंध विकसित किए हैं। दोनों देशों के प्रगाढ़ संबंधों की शुरुआत क्लिंटन प्रशासन के समय हुई थी। इसके बाद ओबामा प्रशासन ने इन्हें और मजबूत किया। उस समय दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग शुरू हुआ और हथियारों के सौदे हुए। ट्रंप प्रशासन ने इस सहयोग को और बढ़ाया। हाल के वर्षों में दोनों देशों ने हिंद-प्रशांत महासागर क्षेत्र के लिए सहयोग का मजबूत तंत्र विकसित किया। इसके अलावा 15 अगस्त, 2020 को भारत के स्वतंत्रता दिवस पर ब्लिंकेन ने अमेरिका में समारोह भी आयोजित किया था। उस समय वह बाइडेन के प्रचार दल के प्रमुख सदस्य थे।

उप विदेश मंत्री रह चुके हैं ब्लिंकेन

गौरतलब है कि ब्लिंकेन अमेरिका के उप विदेश मंत्री के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने राष्ट्रपति बराक ओबामा के दूसरे कार्यकाल के दौरान यह पद संभाला था। उसी दौरान वह अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भी रहे थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.