top menutop menutop menu

कोरोना वायरस संकट के चलते चार दिन के कार्य सप्ताह पर विचार कर रही हैं अमेरिकी कंपनियां

वाशिंगटन, एएनआइ। कोरोना वायरस संकट के चलते अमेरिका की ज्यादातर कंपनियां काम के घंटे कम करने पर विचार कर रही हैं और इसमें सप्ताह में काम के दिनों की संख्या चार दिन करना भी शामिल है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने इस तरह का सुझाव दिया था जिसके बाद कुछ देशों ने इसे लागू किया और बेहतर जीवन स्तर के साथ-साथ स्टाफ उत्पादकता में वृद्धि भी देखी गई।

न्यूजीलैंड के चार-दिवसीय कार्य सप्ताह के सुझाव को कुछ देशों में किया लागू

50 दिनों से भी कम समय में कोरोना वायरस के प्रकोप को समाप्त करने के बाद अर्डर्न ने चार-दिवसीय कार्य सप्ताह होने का विचार पेश किया, जिसे कुछ देशों में लागू किया गया है।

अर्डर्न ने कहा था- उद्योगों को उबराने में पर्यटन को प्रोत्साहन देना जरूरी

वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सप्ताह एक फेसबुक वीडियो में अर्डर्न ने कहा था कि वह घरेलू पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए रचनात्मक तरीके तलाश रही हैं, ताकि उद्योग को उबरने में मदद मिल सके, क्योंकि देश अभी भी सख्त सीमा प्रतिबंधों के साथ फिर से खुल रहा है।

जापान और अमेरिका में कंपनियों ने की सफलता हासिल

हालांकि, फिनलैंड के प्रधानमंत्री ने इस विचार को टाल दिया है, जबकि ब्रिटेन की लेबर पार्टी ने इसके लिए अभियान चलाया है। जापान में माइक्रोसॉफ्ट और अमेरिका में शेक शैक जैसी कंपनियों ने इस प्रारूप को आजमाने के बाद सफलता हासिल की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.