फाइजर का दावा- ओमिक्रोन के लिए पर्याप्त है वैक्सीन की तीन डोज, जानें कैसे

फाइजर इंक और बायोएनटेक SE की ओर से शुरुआती लैब स्टडी के नतीजों का एलान किया गया है। इसके अनुसार कोरोना वैक्सीन फाइजर के जरिए दिए गए सीरम एंटीबडी (BNT162b2) की तीन डोज के बाद SARS-CoV-2 का ओमिक्रोन वैरिएंट खत्म हो जाएगा।

Monika MinalPublish:Thu, 09 Dec 2021 05:33 AM (IST) Updated:Thu, 09 Dec 2021 07:10 AM (IST)
फाइजर का दावा- ओमिक्रोन के लिए पर्याप्त है  वैक्सीन की तीन डोज, जानें कैसे
फाइजर का दावा- ओमिक्रोन के लिए पर्याप्त है वैक्सीन की तीन डोज, जानें कैसे

न्यूयार्क, एएनआइ। दक्षिण अफ्रीका से निकला कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन अब तक दुनिया के 50 से अधिक देशों में पहुंच चुका है। इस क्रम में कोरोना वैक्सीन फाइजर ने दावा किया है कि इसे निष्क्रिय करने के लिए वैक्सीन का तीन डोज पर्याप्त है। फाइजर इंक और बायोएनटेक SE की ओर से शुरुआती लैब स्टडी के नतीजों का एलान किया गया है। इसके अनुसार कोरोना वैक्सीन फाइजर के जरिए दिए गए सीरम एंटीबडी (BNT162b2) की तीन डोज के बाद SARS-CoV-2 का ओमिक्रोन वैरिएंट खत्म हो जाएगा।

डेटा से पता चलता है कि BNT162b2 का तीसरा डोज शरीर में न्यूट्रलाइज करने वाले एंटीबडी (titers) को दो डोज की तुलना में 25 गुना अधिक बढ़ा देता है। ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर फाइजर द्वारा जारी प्रेस रिलीज में यह दावा किया गया है। कंपनियों ने पहले ही एलान कर दिया है कि 2022 में वे BNT162b2 की चार बिलियन डोज का उत्पादन करेंगी।

फाइजर के चेयरमैन और CEO अल्बर्ट बोर्ला (Albert Bourla) ने बताया, ' हालांकि वैक्सीन के दो डोज ओमीक्रोन वैरिएंट से होने वाले गंभीर संक्रमण से सुरक्षा प्रदान कर सकती हैं लेकिन इस शोध के बाद मिले प्रारंभिक डेटा से यह स्पष्ट है कि हमारे वैक्सीन की तीसरी डोज के बाद सुरक्षा काफी अधिक बढ़ जाती है।' BioNTech की कोफाउंडर व MD, CEO उगुर साहिन (Ugur Sahin) ने कहा, 'हमारे प्राथमिक डेटा से इस बात का संकेत मिलता है कि ओमिक्रोन वैरिएंट से होने वाले गंभीर संक्रमण से बचाव में वैक्सीन का तीसरा या बूस्टर डोज पर्याप्त है।' साहिन ने दुनिया भर में जारी कोरोना वैक्सीनेशन का उल्लेख करते हुए कहा कि नए वैरिएंट से मुकाबला के लिए वैक्सीन के अपग्रेडेशन को लेकर काम जारी है। 

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी शीर्ष वैज्ञानिक डा. एंथनी फासी ने मंगलवार को बताया था कि कोविड-19 का ओमीक्रोन वेरिएंट 'निश्चित' रूप से डेल्टा वेरिएंट से अधिक घातक नहीं है। B.1.1.1.529 वैरिएंट के म्यूटेशन काफी अधिक हैं।