किताबों में डोनाल्ड ट्रंप के बारे में हैं ये अनोखे दावे, आप ही तय करें- कितने सच्चे, कितने झूठे

वॉशिंगटन [जेएनएन]। विवादों से अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का गहरा नाता है। कभी वह अपने किसी फैसले को लेकर सुर्खियों में रहते हैं तो कभी उन पर लिखी पु‍स्‍तकों को लेकर विवाद होता रहा है। एक बार फ‍िर अमेरिका के सबसे बड़े स्कैंडल वॉटरगेट का खुलासा करने वाले पत्रकार ने ट्रंप के व्हाइट हाउस कार्यकाल पर एक किताब लिखी है और वह चर्चा में है। हालांकि यह किताब 11 सितंबर को रिलीज होगी। लेकिन, कुछ मीडिया संस्थानों ने पहले ही किताब के हिस्सों को रिलीज कर दिया। आइए जानते हैं कि उन पर लिखी पु‍स्‍तकों के कुछ विवादित अंश।

बेवकूफ और झूठे हैं ट्रंप
द वाशिंगटन पोस्ट के वरिष्ठ पत्रकार बॉब वुडवर्ड ने किताब ‘फियर: ट्रम्प इन द व्हाइट हाउस’ में दावा किया गया है कि  व्हाइट हाउस के अधिकारी ट्रंप के सामने कई अहम और संवेदनशील दस्तावेज पेश ही नहीं करते। किताब में अफसरों के हवाले से लिखा गया है कि कई लोग वहां उन्हें बेवकूफ और झूठा भी कहते हैं। यहां तक कि देश के रक्षामंत्री जेम्स मैटिस भी उनकी समझ को पांचवीं के बच्चे के बराबर बता चुके हैं।

ट्रंप ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर की हत्या की साजिश की
किताब में कहा गया है कि ट्रंप ने पेंटागन को सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद की हत्या की साजिश रचने के लिए कहा था। इस पर पहले मैटिस ने ट्रंप के अनुरोध पर गौर किया, लेकिन उनके जाने के बाद अपने साथी से ऐसा कोई कदम नहीं उठाने के लिए कहा। इसके अलावा किताब में बताया गया है कि चीफ ऑफ स्टाफ जॉन केली ट्रंप की मानसिक स्थिति पर सवाल खड़े कर चुके हैं। एक मीटिंग के दौरान उन्होंने व्हाइट हाउस को पागलों की जगह कह दिया था।

कौन हैं बॉब वुडवर्ड 
बॉब वुडवर्ड वॉशिंगटन पोस्ट अखबार के सीनियर एसोसिएट एडिटर हैं। यहां के मीडिया जगत में उन्हें काफी सम्मान की नजरों से देखा जाता है। वुडवर्ड पूर्व राष्‍ट्रपति जॉर्ज बुश और बराक ओबामा पर किताबें लिख चुके हैं। बॉब ने पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन के वॉटरगेट स्कैंडल का खुलासा किया था। इस रिपोर्ट के सार्वजनिक होने के बाद निक्सन को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। उन्हें राजनीति में विशेषज्ञ पत्रकार माना जाता है। बताया जाता है कि जब किताब के सिलसिले में बॉब ने ट्रम्प से बात करने के लिए कहा तो तो अधिकारियों ने उन्हें व्हाइट हाउस आने से रोक दिया।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया ट्वीट
इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि बॉब की किताब में लिखी बातों को रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस और गृह मंत्री जॉन केली ने झूठ बताया। उन्होंने किताब के समय पर सवाल खड़े करते हुए पूछा कि क्या बॉब डेमोक्रेट्स के लिए काम कर रहे हैं ? किताब के कुछ अंश बाहर आने के बाद व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी सारा सैंडर्स ने बयान जारी किया। इसके मुताबिक, "किताब में गढ़ी हुई कहानियां शामिल की गई हैं। यह कहानियां बॉब (लेखक) को व्हाइट हाउस के कुछ असंतुष्ट कर्मचारियों से मिली हैं।

ट्रंप पर लिखी अन्‍य विवादित पुस्‍तकें

दावा- ट्रंप की राष्ट्रपति बनने की इच्छा नहीं थी
अमेरिकी पत्रकार माइकल वुल्फ द्वारा लिखित किताब 'फायर एंड फ्यूरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस' का दावा है कि ट्रंप का अंतिम लक्ष्य कभी भी राष्‍ट्रपति का चुनाव जीतना नहीं था। किताब में दावा किया गया है कि ट्रंप की राष्ट्रपति बनने की इच्छा नहीं थी। किताब के अंश के अनुसार, ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ के वक्त अपने सहयोगी सैम नूनबर्ग से कहा था कि मैं दुनिया का सबसे प्रसिद्ध व्यक्ति बन सकता हूं। फॉक्स न्यूज के पूर्व प्रमुख रॉजर एलेस ने उस वक्त ट्रंप से कहा था कि अगर आप अपना करियर टेलीविजन में चाहते हैं, तो पहले राष्ट्रपति की दौड़ में शामिल होना होगा।

दावा- बेटी को सुंदर और आकर्षक बनने के लिए ब्रेस्ट इम्प्लांट के लिए दबाव डालते थे ट्रंप
न्यूयॉर्क में अमेरिका के प्रथम परिवार के बारे में लिखी पुस्तक बाजार में आई है। इसमें वैनिटी फेयर की पत्रकार एमिली जेन फॉक्स ने राष्ट्रपति ट्रंप के परिजनों के बारे में रोचक जानकारी दी है। पुस्तक में विशेष रूप से ट्रंप की पत्नी मेलानिया और उनकी बेटी इवांका के बारे में जानकारी दी गई है। फॉक्स ने पुस्तक में लिखा है कि जब इवांका स्कूल में पढ़ती थी तो ट्रंप ने स्कूल से कहा था कि यहां एक हेलीपैड बनवा लीजिए ताकि उनकी बेटी वीकएंड्स पर न्यूयॉर्क जा सके। इतना ही नहीं, वे बेटी को सुंदर और आकर्षक बनने के लिए इवांका पर ब्रेस्ट इम्प्लांट के लिए दबाव डालते थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.