अमेरिका: किसानों के नाम पर भारतीय दूतावास के बाहर प्रदर्शन, लहराए गए खालिस्तानी झंडे

15 अगस्त को दूतावास के बाहर बड़े विरोध प्रदर्शन करने की योजना है।

खालिस्तान समर्थकों ने एक बार फिर कृषि कानूनों के विरोध के नाम पर अमेरिका में भारतीय दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया। खालिस्तान समर्थकों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत में सरकार द्वारा लागू किए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की भी मांग की।

Publish Date:Wed, 27 Jan 2021 08:28 AM (IST) Author: Manish Pandey

वाशिंगटन डीसी, एएनआइ। देश में कृषि कानूनों पर चल रहे विरोध ने अब अलगाववादी ताकतों को भारत के खिलाफ साजिस रचने का अवसर दे दिया है। गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों के समर्थन के नाम पर अमेरिका में भारतीय दूतीवास के बाहर खालिस्तान समर्थकों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने एएनआइ को बताया कि उनकी 15 अगस्त को दूतावास के बाहर बड़े विरोध प्रदर्शन करने की योजना है।

खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारियों ने भारतीय दूतावास के सामने खालिस्तानी झंडे लहराए और नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की। इस दौरान वहां मौजूद भीड़ भारत विरोधी नारे भी लगाए। एक महीने पहले वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के पास खालिस्तान समर्थकों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा को खालिस्तान के झंडे से ढ़क दिया था। इसलिए इस बार गांधी प्रतिमा के चारों ओर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।

बता दें कि तीन कृषि कानूनों को केंद्र सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में बड़े सुधारों के रूप में पेश किया गया है जो बिचौलियों को दूर करेंगे और किसानों को देश में कहीं भी अपनी उपज बेचने की अनुमति देता है। मुख्य तौर पर पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर पिछले साल 28 नवंबर से दिल्ली के कई सीमा बिंदुओं पर डेरा डाले हुए हैं। सरकार और किसान यूनियनों के बीच कई दौर की वार्ता से अब तक गतिरोध दूर नहीं हो पाया है। उच्चतम न्यायालय ने समाधान के लिए एक समिति का गठन किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.