डोनाल्‍ड ट्रंप ने राष्‍ट्रपति बनने से पहले और बाद में इनकम टैक्‍स के नाम पर चुकाए थे केवल 750 डॉलर!

डोनाल्‍ड ट्रंप ने कई वर्षों तक नहीं भरा इनकम टैक्‍स
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 02:11 PM (IST) Author: Kamal Verma

वाशिंगटन (एपी)। अमेरिका में जहां राष्‍ट्रपति चुनाव में अब कुछ ही समय बचा है वहीं डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ इस चुनाव में ताल ठोक रहे डेमोक्रेट पार्टी के उम्‍मीद्वार जो बिडेन को एक जबरदस्‍त मुद्दा मिल गया है। ये मुद्दा उन्‍हें न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की एक रिपोर्ट ने दिया है। दरअसल, न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि डोलाल्‍ड ट्रंप ने राष्‍ट्रपति बनने के बाद वर्ष 2016 और 2017 में महज 750 डॉलर का टैक्स भरा था। वर्ष 2016 में जब राष्‍ट्रपति चुनाव हुए थे तब भी ये मुद्दा गरमाया था। इस दौरान उनके खिलाफ चुनावी मैदान में उतरने वाली हिलेरी क्लिंटन ने इस बाबत उनसे टैक्‍स पेपर्स तक सार्वजनिक करने को कहा था। हालांकि ट्रंप उनके आरोपों और उनकी हर मांग को उस वक्‍त खारिज करते दिखाई दिए थे। अब जबकि एक बार फिर राष्‍ट्रपति चुनाव का शोर जोरो पर है तब दोबारा ये मुद्दा उठ खड़ा हुआ है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप ने राष्‍ट्रपति बनने से पहेल वर्ष 2016 में कुल 750 डॉलर और राष्‍ट्रपति बनने के बाद वर्ष 2017 में इतना ही टैक्‍स भरा था। इइतना ही नहीं इसमें ये तक कहा गया है कि इससे पहले के करीब 10 वर्ष तक उन्‍होंने टैक्‍स ही नहीं भरा था। इस बाबत उठे सवालों के जवाब में ट्रंप उनका कहना था कि उनके बिजनेस में लगातार नुकसान बढ़ता जा रहा है। ऐसे में उन्‍होंने इतना पैसा ही नहीं कमाया जिसपर उन्‍हें टैक्‍स भरने की जरूरत होती। पिछले राष्‍ट्रपति चुनाव के दौरान जब ये मुद्दा उठा था तब ट्रंप ने इस मामले में अपने टैक्‍स पेपर सार्वजनिक करने की बात कही थी लेकिन ऐसा किया नहीं। समाचार एजेंसी एपी ने फेडरल टैक्‍स पॉलिसी के डायरेक्‍टर स्‍टीव वार्महॉफ के हवाले से कहा है कि 18 में से 11 साल उन्‍होंने टैक्‍स ही नहीं भरा। 

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपतियों के इतिहास में ट्रंप ऐसे दूसरे राष्ट्रपति हैं जिन्‍होंने अपनी टैक्‍स की जानकारी को छिपाया है। इससे पहले पूर्व राष्‍ट्रपति निक्‍सन ने भी इसी तरह से अपने टैक्स की जानकारी को छिपा कर रखा था। एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जब ट्रंप से इस बारे में सीधे सवाल किए गए तब उन्‍होंने इनको बकवास बतातु हुए खारिज कर दिया। इतना ही नहीं उन्‍होंने इस तरह की सभी खबरों को फेक न्‍यूज बताया है। इतना ही नहीं उन्‍होंने यहां तक कहा है कि टैक्‍स के तौर पर उन्‍होंने मोटी रकम चुकाई है। वो एक बार फिर से इनके पेपर्स को दिखाने की भी बात कर रहे हैं।

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में बिडेन को जो मुद्दा हाथ लगा है वो काफी अहम है। वहीं ट्रंप लगातार बिडेन की बातों और आरोपों को खारिज किए जा रहे हैं। मंगलवार को प्रेजिडेंशियल डिबेट से पहले ट्रंप ने बिडेन को कोविड-19 टेस्‍ट करवाने की सलाह दी थी। लेकिन ट्रंप के लिए टैक्‍स का मुद्दा फिर उठना नुकसानदायक हो सकता है। जो बाइडेन की टीम इसको लेकर सोशल मीडिया पर एक कैंपेन भी चला रही है। एनवाईटी के मुताबक जिस वर्ष के लिए ट्रंप पर सवाल उठाए जा रहे हैं उसमें बिडेन ने टैक्‍स के तौर पर 37 लाख, कमला हैरिस ने पांच लाख और बर्नी सैंडर्स ने तीन लाख डॉलर चुकाए हैं।

खबर के मुताबिक वर्ष 2004 से 2017 के बीच ट्रंप द एप्रेंटिस नाम का एक रियलिटी टीवी शो होस्ट करते थे। इस दौरान उन्होंने अपने ऐसे बहुत से खर्चे दिखा दिए जिनपर वे कर कटौती के हकदार बने। इसमें रहने का और विमान का खर्च शामिल था। यहां तक कि अपने बालों के स्टाइलिंग के लिए उन्होंने 70,000 डॉलर का खर्च भी दिखाया था।

वर्ष 2018 के दस्‍तावेजी सुबूतों से पता चलता है कि इस दौरान ट्रंप ने 43.4 करोड़ डॉलर की कमाई की। इसी दौरान उन्हें 4.7 करोड़ का नुकसान भी हुआ। वर्ष 2000 में उन्होंने 31.5 करोड़ डॉलर के नुकसान की बात कही। इसके मुताबिक क्‍योंकि उनका कारोबार विदेशों में भी फैला है। इस वजह से उन्‍हें वहां पर भी कर चुकाना होता है। रिकॉर्ड दिखाते हैं कि 2017 में उन्होंने फिलीपींस में 15.6 लाख और भारत में 14.5 लाख डॉलर का टैक्स भरा, जबकि अमेरिका में इस दौरान उन्होंने केवल 750 डॉलर का टैक्स ही भरा था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.