US Election :फ्लोरिडा-पेंसिल्वेनिया से होकर गुजरेगी व्‍हाइट हाउस की राह, ट्रंप के दूसरे कार्यकाल की बड़ी बाधा

रिपब्लिकन उम्‍मीदवार अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और उनके प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन की फाइल फोटो।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 09:57 AM (IST) Author: Ramesh Mishra

न्‍यूयॉर्क, एजेंसी। अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में अब मुकाबला दिलचस्‍प मोड़ पर पहुंच गया है। इन दिनों सबकी निगाहें अमेरिका के दो बड़े प्रांतों फ्लोरिडा और पेंसिल्वेनिया पर टिकी है। यह माना जा रहा है कि यदि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को अपनी दूसरी पारी में जीत हासिल करनी है तो इन राज्‍यों में उन्‍हें अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन को शिकस्‍त देनी होगी। ट्रंप को दोबारा राष्‍ट्रपति बनने के लिए 270 इलेक्टोरल वोटों की जरूरत होगी, जो इन राज्‍यों में जीत के बगैर नहीं हो सकेगी। यानी ट्रंप की जीत की राह फ्लोरिडा और पेंसिल्वेनिया से होकर जाएगी। ऐसे में दोनों राज्‍य अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के लिए अहम हो गए हैं। उधर, राष्‍ट्रपति ट्रंप को घेरने के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी ने भी इन दोनों राज्‍यों में अपनी पूरी ताकत झोक दी है।

2000 में बुश ने फ्लोरिडा में वापसी के बाद जीत हासिल की

अमेरिका में व्‍हाइट हाउस का रास्‍ता फ्लोरिडा से ही जाता है। अमेरिका में लगभग हर राष्‍ट्रपति ने फ्लोरिडा जीतने के बाद ही व्‍हाइट हाउस का रास्‍ता तय किया है। इसलिए व्‍हाइट हाउस पर दोबारा कब्‍जा पाने के लिए ट्रंप को फ्लोरिडा पर जीत हासिल करनी होगी। फ्लोरिडा के बिना उनकी जीत की संभावना एक फीसद ही होगी। वर्ष 2000 में रिपब्लिकन जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने फ्लोरिडा में वापसी के बाद अल गोर को 537 वोटों से हराया था। राष्‍ट्रपति चुनाव में रायटर/ इप्सोस, सीएनएन/ एसएसआरएस और सिविक/ डेली कोस ने फ्लोरिडा सर्वेक्षण जारी किया है। इस सर्वेक्षण जारी डेमोक्रेटिक उम्‍मीदवार जो बिडेन को 4 या 5 अंक की बढ़त लिए हुए हैं। 10 अक्टूबर के बाद से जारी किए गए चुनावी सर्वेक्षण में पेंसिल्वेनिया में बिडेन को आगे दिखाया गया है। वर्ष 2016 में राष्‍ट्रपति ट्रंप ने पेंसिल्वेनिया, विस्कॉन्सिन और मिशिगन में जीत हासिल किया था। उनको यह जीत दोहरानी होगी।

राष्‍ट्रपति चुनाव में छह अमेरिकी राज्‍यों की अहम भूमिका

रायटर/ इप्सोस पोल सर्वे के मुताबिक राष्‍ट्रपति चुनाव में छह अमेरिकी राज्‍यों की अहम भूमिका होगी। इसमें प्रमुख रूप से विस्कॉन्सिन, पेन्सिलवेनिया, मिशिगन, नॉर्थ कैरोलिना, फ्लोरिडा और एरिजोना हैं। फ्लोरिडा, पेंसिल्वेनिया, मिशिगन, विस्कॉन्सिन, उत्तरी केरोलिना और एरिजोना में व्हाइट हाउस जीतने के लिए आवश्यक 270 चुनावी वोटों में से 101 वोट हैं। इसलिए दोनों उम्‍मीदवारों की निगाहें इन राज्‍यों पर टिकी हैं।

उत्‍तर कैरोलिना : इस प्रांत में राष्‍ट्रपति पद के दोनों उम्‍मीदवारों के बीच कांटे की टक्‍कर है। बिडेन के पक्ष 49 फीसद वोट पड़े, वहीं ट्रंप के पक्ष में 46 फीसद। दोनों उम्‍मीदवारों के बीच तीन फीसद का मार्जिन है। 49 फीसद ने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने में बिडेन ज्‍यादा कारगर होंगे, वहीं 45 फीसद ने कहा कि ट्रंप बेहतर हैं। 51 फीसद ने ट्रंप को अर्थव्‍यवस्‍था के लिए बेहतर माना, जबकि 43 फीसद ने बिडेन के पक्ष में वोटिंग किया।

विस्कॉन्सिन : अमेरिका के इस प्रांत में बिडेन के पक्ष में 51 फीसद वोटिंग हुई, जबकि 43 फीसद ट्रंप के पक्ष में। 52 फीसद ने माना कि ब‍िडेन कोरोना वायरस से बेहतर ढंग से निपट सकेंगे, जबकि 38 फीसद ट्रंप के पक्ष में रहे। 47 फीसद ने कहा कि ट्रंप ने अर्थव्‍यवस्‍था का बेहतर प्रबंधन किया,जबकि 45 फीसद ने कहा बिडेन बेहतर होंगे।

फ्लोरिडा: यहां दोनों उम्‍मीदवारों के बीच कांटे का मुकाबला है। इस राज्‍य में बिडेन के पक्ष में 49 फीसद वोटिंग हुई, जबकि ट्रंप के पक्ष में 47 फीसद। 49 फीसद ने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने में बिडेन बेहतर होंगे, वहीं ट्रंप के पक्ष में 44 फीसद वोटिंग हुई। अर्थव्‍यवस्‍था के प्रबंधन के मामले में ट्रंप को बिडेन से बेहतर माना गया। 49 फीसद ने कहा ट्रंप बेहतर है, वहीं 45 फीसद बिडेन के पक्ष में हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.