अमेरिका: प्रधानमंत्री मोदी ने की शीर्ष पांच अमेरिकी CEOs से मुलाकात, भारत में निवेश को लेकर कंपनियों ने दिखाई रुचि

पीएम मोदी ने मौजूदा समय में अमेरिका दौरे पर है। पहले दिन पीएम मोदी की पांच कंपनियों के ग्लोबल सीईओ से मुलाकात की। पीएम मोदी से क्वालकाम के सीईओ क्रिस्टानियो आर एमॉन फर्स्ट सोलर के मार्क विडमर एडोब के शांतनु नारायण जनरल एटॉमिक्स के विवेक लाल मिले।

Arun Kumar SinghThu, 23 Sep 2021 07:40 PM (IST)
पीएम मोदी की पांच कंपनियों के ग्लोबल सीईओ से मुलाकात की।

वाशिंगटन, एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को अमेरिका की अलग-अलग क्षेत्रों की पांच प्रमुख कंपनियों के सीईओ से अलग-अलग मुलाकात की। इन क्षेत्रों में ड्रोन, 5जी तकनीक, सेमीकंडक्टर और सौर ऊर्जा शामिल हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री ने भारत में अवसरों का उल्लेख करते हुए उन्हें निवेश बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया।

क्वालकाम सीईओ के साथ 5जी पर बात

क्वालकाम के सीईओ क्रिस्टिआनो एमोन के साथ मुलाकात को प्रधानमंत्री ने फलदायी करार दिया। मोदी ने कहा, 'उन्होंने 5जी में भारत की प्रगति और कनेक्टिविटी बढ़ाने में पीएम-वानी जैसे प्रयासों में रुचि दिखाई।' एमोन ने भारत में सेमीकंडक्टर के क्षेत्र में भी काम करने की इच्छा जताई। प्रधानमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि भारत उनके प्रस्तावों पर सक्रियता से काम करेगा। प्रधानमंत्री ने उनसे 5जी के क्षेत्र में वैसे ही काम करने का अनुरोध किया जैसा उनकी कंपनी ने 'नाविक' के मामले में किया था। उन्होंने नई उदारवादी ड्रोन नीति के बारे में भी बात की और कहा कि क्वालकाम नए उभरते हुए बाजार में नए अवसरों का लाभ उठा सकती है। मोदी से मुलाकात के बाद एमोन ने कहा कि उनकी कंपनी भारत में निवेश जारी रखेगी। भारत निवेशकों के लिए शानदार जगह है।

फ‌र्स्ट सोलर के सीईओ से अक्षय ऊर्जा पर चर्चा

फ‌र्स्ट सोलर के सीईओ मार्क विडमार के साथ बातचीत में प्रधानमंत्री ने भारत में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में अवसरों पर बात की और सोलर पैनल बनाने वाली इस कंपनी को देश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। मोदी ने ट्वीट कर बताया, 'सौर ऊर्जा का विषय मेरे हृदय के बेहद करीब है क्योंकि यह हमारी धरती के भविष्य जुड़ा है। मार्क विडमार को बताया कि सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश के लिए भारत क्यों सही जगह है। अपने ग्रीन हाइड्रोजन मिशन के बारे में भी बात की।' इस दौरान विडमार ने पीएलआइ स्कीम के जरिये सौर ऊर्जा उपकरणों के उत्पादन की योजना साझा की। साथ ही उन्होंने जलवायु परिवर्तन और उससे जुड़े उद्योगों के लिए भारतीय नीतियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के मामले में भारत ने जो किया है, उसका दुनिया के सभी देशों को अनुकरण करना चाहिए।

एडोब सीईओ के साथ निवेश योजना पर वार्ता

एडोब के सीईओ शांतनु नारायण के साथ प्रधानमंत्री ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ), स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे सेक्टरों में कंपनी की निवेश योजनाओं पर चर्चा की। उन्होंने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम और स्वास्थ्य, शिक्षा व अनुसंधान-विकास जैसे क्षेत्रों में नई तकनीकों के इस्तेमाल पर भी बात की। दोनों ने भारत में एआइ के कुछ सेंटर आफ एक्सीलेंस बनाने पर जोर दिया।

टीकाकरण की सराहना

प्रधानमंत्री ने मुलाकात के बाद ट्वीट कर बताया कि शांतनु ने वीडियो और एनीमेशन की खुशी भारत के हर बच्चे तक पहुंचाने की इच्छा व्यक्त की। शांतनु ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत के प्रयासों खासकर तेजी से किए जा रहे टीकाकरण की सराहना की। उन्होंने कहा, 'हम शिक्षा पर ज्यादा जोर देने और रुचि लेने के समर्थक हैं। यह (निवेश) भारत में शानदार रहा है, यह वास्तव में हमारा गुप्त हथियार है।'

जनरल एटोमिक्स के सीईओ से रक्षा तकनीक की मजबूती पर बात

जनरल एटोमिक्स के सीईओ विवेक लाल से बातचीत में प्रधानमंत्री ने भारत के रक्षा तकनीक क्षेत्र को मजबूत बनाने पर बात की। इसमें ड्रोन तकनीक में प्रगति और प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम शामिल हैं। भारत और अमेरिका के बीच कुछ बड़े रक्षा सौदों में प्रमुख भूमिका निभाने वाले लाल ने भारत में रक्षा और नई प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हालिया नीतिगत बदलावों की सराहना की। लाल ने कहा कि ड्रोन उत्पादन के लिए भारत एक आकर्षक स्थान है और भारत में एक डेडिकेटेड ड्रोन हब बनाया जा सकता है। उन्होंने अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत के सुधारों की भी सराहना की। मालूम हो कि जनरल एटोमिक्स दुनिया की अग्रणी निजी परमाणु एवं रक्षा कंपनियों में से एक है।

ब्लैकस्टोन सीईओ के साथ भारत में निवेश की संभावनाओं पर बातचीत

ब्लैकस्टोन ग्रुप के सीईओ स्टीफन स्वार्जमैन के साथ मुलाकात में प्रधानमंत्री ने भारत में निवेश की शानदार संभावनाओं पर बात की। इसमें नेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन एंड नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन शामिल है। इस दौरान स्वार्जमैन ने कंपनी की भारत में जारी परियोजनाओं और बुनियादी ढांचा व रियल एस्टेट सेक्टर में और निवेश करने में अपनी रुचि के बारे में बताया।

एसेट्स मोनेटाइजेशन एंड बेड बैंक पर चर्चा

प्रधानमंत्री ने इस दौरान खासतौर पर एसेट्स मोनेटाइजेशन एंड बेड बैंक के बारे में बात की। मुलाकात के बाद स्वार्जमैन ने कहा, 'ब्लैकस्टोन के लिए भारत दुनिया में निवेश के लिए सबसे अच्छा बाजार रहा है। यह अब दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ता हुआ देश है। इसलिए हम काफी आशावादी हैं और हमने भारत में जो कुछ किया है उस पर हमें गर्व है।' मोदी सरकार की प्रशंसा करते हुए स्वार्जमैन ने कहा कि यह बाहरी लोगों के लिए बेहद अनुकूल सरकार है, वे बेहद सुधार उन्मुख और उद्देश्यपूर्ण हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.