नासा के रोवर ने भेजी मंगल ग्रह से नई तस्वीर, यहां देखिये लैंडिंग और उसके बाद की सभी फोटो

नासा के रोवर ने मंगल ग्रह से भेजी ये शानदार तस्वीर। (फोटो: ट्विटर/नासा)

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा(NASA) ने बुधवार को मंगल ग्रह से पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) द्वारा खींची गई एक शानदार तस्वीर पृथ्वी पर भेजी। नासा ने हाल ही में मंगल ग्रह पर हुई रोवर की लैंडिंग और उसके बाद की तस्वीरें भी जारी की थीं।

Shashank PandeyThu, 25 Feb 2021 08:23 AM (IST)

वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बुधवार को मंगल ग्रह से रोवर द्वारा भेजी गई एक शानदार तस्वीर जारी की। इसमें रोवर के लैंडिंग स्थल का एक शानदार मनोरम दृश्य जारी किया गया है। नासा (NASA) ने पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) को मंगल ग्रह (Mars) पर उतार कर एक एतिहासिक कदम उठाया है। मार्स 2020 अभियान (Mars Mission 2020) के तहत नासा ने यह रोवर मंगल ग्रह के कुछ खास अध्ययन के लिए भेजा है। नासा इससे पहले भी मंगल पर रोवर भेज चुका है। नासा ने हाल ही में हुई इस रोवर की लैंडिंग और उसके बाद की तस्वीरें जारी की है।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बुधवार को मंगल ग्रह पर रोवर के लैंडिंग स्थल की एक शानदार फोटो जारी की। यह तस्वीर जेज़ेरो क्रेटर के रिम को दर्शाता है जहां पिछले सप्ताह रोवर उतरा था। यह तस्वीर रोवर के द्वारा 360 डिग्री घुमाकर लिया गया था। ये रोवर का कैमरा जूम करने योग्य कैमरों से सुसज्जित है जो हाई क्वालिटी वीडियो और तस्वीरें ले सकता हैं। नासा ने कहा कि ये तस्वीर 142 अलग-अलग तस्वीरों से मिलकर बनी है जो पृथ्वी पर एक तस्वीर के रूप में भेजी गई है।

नासा ने कहा कि रोवर के कैमरे वैज्ञानिकों को जेजेरो क्रेटर के भूगर्भीय इतिहास और वायुमंडलीय स्थितियों का आकलन करने में मदद करेंगे और चट्टानों और तलछट की पहचान करेंगे जो पृथ्वी पर अंतिम रूप से लौटने के लिए एक करीबी परीक्षा और संग्रह के योग्य होंगे। इससे पहले सोमवार को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने मंगल ग्रह का पहले ऑडियो जारी किया था। इसमें रोवर के माइक्रोफोन द्वारा कैप्चर किए गए हवा के झोंके की रिकॉर्डिंग शामिल थी। नासा ने रोवर के लैंडिंग का वीडियो भी जारी किया।

नासा ने लैंडिंग के बाद जारी की थी तस्वीरें

नासा ने कुछ दिनों पहले पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) के नेवीगेशन कैमरा यानी नैवकैम्स (Navcams) रोवर के डेक की एक तस्वीर जारी की थी। इसमें नासा के प्लैनेटरी इंस्ट्रयूमेंट फॉर एक्स रे लिथोकैमिस्ट्री जासे पिक्सएल( PIXL) भी कहते हैं, दिखाई दे रहा है। यह रोवर की भुजा में लगा एक उपकरण है जो मंगल पर भूगर्भीय अध्ययन करेगा। इस उपकरण में एक कैमरा है जो चट्टानों और मिट्टी की तस्वीरें भी लेगा जो नमक के दाने जितने छोटे कण भी देख सकता है। इससे वैज्ञानिकों को मंगल पर पिछले सूक्ष्मजीवन की जानकारी मिल सकेगी।

यह मंगल ग्रह से आई पहली हाई रिजोल्यूशन तस्वीर है, यह तस्वीर नासा के हजार्ड कैमरा (Hazard Camera) से ली गई है जो पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) के नीचे की तरफ लगा है। नासा (NASA) ने इस 23 फरवरी के दिन की तस्वीर (Image of the day) के तौर पर जारी किया। तस्वीर में मंगल का जजीरो क्रेटर (Jezero Crater) साफ दिखाई दे रहा है।

मास्टकैम जेड (Mastcam-Z) एक खास कैमरे का जोड़ा है जो पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover ) में लगा है। इस तस्वीर में कैमरे को मंगल (Mars) पर पहुंचने के बाद पहली बार इस्तेमाल किया रहा है जिसे वैज्ञानिक कैमरे के रंग और उसकी अन्य सैंटिग के लिए मार्कर के तौर पर प्रयोग करेंगे। मास्टकैम कैलिफोर्निया के सैन डियागो में मालिन स्पेस साइंस सिस्टम ने बनाया है और इसे टम्पे में एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी संचालित करेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.