भारत के 1,115 बांध करोड़ों लोगों के लिए बड़ा खतरा, दुनिया के जर्जर बांधों पर पढ़े यूएन की खास रिपोर्ट

दुनिया के हर हिस्से में हैं 50 साल से ज्यादा पुराने बांध

दुनिया में हजारों बांध 2025 तक 50 वर्ष या इससे ज्यादा पुराने हो जाएंगे। यह समयसीमा किसी भी बांध के लिए काफी होती है। रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया के कुल 58700 बांधों में से ज्यादातर का निर्माण सन 1930 से 1970 के बीच हुआ है।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 10:19 PM (IST) Author: Dhyanendra Singh Chauhan

न्यूयॉर्क, प्रेट्र। भारत, अमेरिका और अन्य देशों में बने हजारों पुराने बांध भविष्य के लिए बड़ा खतरा हैं। भूकंप या अन्य किसी अनहोनी की स्थिति में ये करोड़ों लोगों के जीवन पर खतरा बन सकते हैं। अकेले भारत में ऐसे बड़े-छोटे बांधों की संख्या 1,115 है। यह बात संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कही गई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2050 तक दुनिया की ज्यादातर आबादी नदियों की डाउन स्ट्रीम के किनारों पर बसी होगी। इसके चलते पुराने बांधों से उन्हें भारी खतरा होगा। एजिंग वाटर इन्फ्रास्ट्रक्चर : एन इमर्जिग ग्लोबल रिस्क शीर्षक वाली यह रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र और कनाडा के एक संस्थान ने मिलकर तैयार की है।

कंक्रीट से बना बांध 50 साल के बाद हो जाता है पुराना

रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया में हजारों बांध 2025 तक 50 वर्ष या इससे ज्यादा पुराने हो जाएंगे। यह समयसीमा किसी भी बांध के लिए काफी होती है। रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया के कुल 58,700 बांधों में से ज्यादातर का निर्माण सन 1930 से 1970 के बीच हुआ है। इन्हें 50 से 100 साल के लिए बनाया गया था। कंक्रीट से बना बांध 50 साल के बाद पुराना हो जाता है। इसलिए दुनिया के हजारों बांध इस समय खतरनाक स्थिति में पहुंच गए हैं, उनकी दीवार टूटने का खतरा पैदा हो गया है।

बांध टूटने से बहुत बड़ी आबादी हो सकती है तबाही का शिकार

ज्यादा पुराने बांध के रखरखाव का खर्च, उनकी जल भंडारण क्षमता भी कम हो जाती है और वे अपने उद्देश्य से कमतर होने लगते हैं। बहुत से बांध कई दशक पहले जब बनाए गए थे तब उनके आसपास आबादी नहीं थी। लेकिन अब बांधों के आसपास ही नहीं, उनकी डाउनस्ट्रीम में बहने वाली नदियों के किनारों पर बड़ी आबादी बस गई है। ऐसे में बांध टूटने की स्थिति में बहुत बड़ी आबादी तबाही की शिकार हो सकती है।

रिपोर्ट में यह बात भारत, अमेरिका, फ्रांस, कनाडा, जापान, जांबिया और जिंबाब्वे में बने बांधों का अध्ययन करने के बाद कही गई है। कुल बांधों के 55 प्रतिशत यानि 32,716 बांध चार एशियाई देशों-चीन, भारत, जापान और दक्षिण कोरिया में बने हुए हैं। इनमें से ज्यादातर जल्द ही 50 साल से ज्यादा पुराने हो जाएंगे। अकेले भारत में ही 1,115 बांध जल्द ही 50 साल या इससे ज्यादा समय पुराने हो जाएंगे। कमोबेश यही स्थिति अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और पूर्वी यूरोप की है। वहां भी काफी पुराने बांध हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.