UNGA में बोले बाइडन, हमने अफगानिस्तान में 20 साल के संघर्ष को खत्म किया, कूटनीति के दरवाजे खोले

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम आतंकवाद के खतरे का सामना कर रहे हैं। हमने अफगानिस्तान में 20 साल से चल रहे संघर्ष को समाप्त कर दिया है।

TaniskTue, 21 Sep 2021 07:47 PM (IST)
संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते जो बाइडन। (फोटो- एएनआइ)

न्यूयार्क, एएनआइ। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम आतंकवाद के खतरे का सामना कर रहे हैं। हमने अफगानिस्तान में 20 साल से चल रहे संघर्ष को समाप्त कर दिया है। हम कूटनीति के दरवाजे खोल रहे हैं। पीड़ा और असाधारण संभावनाओं के इस समय में हमने बहुत कुछ खोया है। हमने लाखों लोगों को खोया है। प्रत्येक मृत्यु हृदयविदारक है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने यह भी कहा कि हमारी सुरक्षा, समृद्धि, स्वतंत्रता आपस में जुड़ी हुई है। हमें पहले की तरह एक साथ काम करना चाहिए। हमारी सुरक्षा, समृद्धि, स्वतंत्रता आपस में जुड़ी हुई है। हमें एक साथ काम करना चाहिए जैसा पहले कभी नहीं था। हम एक नए शीत युद्ध की शुरुआत नहीं चाहते हैं, जिसमें दुनिया विभाजित हो। अमेरिका किसी भी देश के साथ काम करने के लिए तैयार है, जो शांतिपूर्ण संकल्पों का अनुसरण करता है। हम सभी को हमारी विफलताओं का परिणाम भुगतना पड़ा है।

क्वाड को लेकर बाइडन ने कहा कि हमने स्वास्थ्य सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, उभरती प्रौद्योगिकियों की चुनौतियों का सामना करने के लिए क्वाड साझेदारी को बढ़ाया है। कोरोना महामारी को लेकर उन्होंने कहा कि  कोविड -19 या भविष्य में सामने आने वाले वैरिएंट्स का सामना हथियार से नहीं हो सकता। सामूहिक विज्ञान और राजनीतिक इच्छाशक्ति से ऐसा हो सकता है। हमें अभी काम करने की जरूरत है। दुनिया भर में लोगों की जान बचाने के लिए इलाज तक पहुंच का विस्तार करना है। भविष्य के लिए हमें वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा के वित्तपोषण के लिए एक नया तंत्र बनाने की आवश्यकता है।

बाइडन ने यह भी कहा कि अमेरिका ईरान को परमाणु हथियार हासिल करने से रोकने के लिए प्रतिबद्ध है। हम कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण विसैन्यीकरण को आगे बढ़ाने के लिए गंभीर और निरंतर कूटनीति चाहते हैं। अमेरिका अब वही देश नहीं रहा, जिस पर 20 साल पहले 9/11 को हमला हुआ था। दुष्प्रचार का मुकाबला करते हुए आज हम ज्यादा ताकतवर हैं औरआतंकवाद की चुनौतियों से निपटने लिए तैयार हैं।  

आतंकवाद को लेकर बाइडन ने कहा कि हम आतंकवाद के कड़वे दंश को जानते हैं। पिछले महीने काबुल हवाई अड्डे पर हुए आतंकवादी हमले में हमने 13 अमेरिकी हीरो और कई अफगान नागरिकों को खो दिया। जो लोग हमारे खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं, वे अमेरिका को एक कट्टर दुश्मन के रूप में पाएंगे अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ अपनी और अपने सहयोगियों की रक्षा करता रहेगा। 

बाइडन ने यह भी कहा कि यूएनएसी ने अफगानिस्तान के लोगों का समर्थन करने के तरीके को रेखांकित करते हुए एक प्रस्ताव अपनाया। तालिबान से उम्मीदें रखीं। हम सभी को हिंसा और धमकी से मुक्त अपने सपनों को पूरा करने के लिए महिलाओं और लड़कियों के अधिकारों की वकालत करनी चाहिए। भविष्य उनका है जो अपने लोगों को खुली सांस लेने का अधिकार देते हैं, उनका नहीं जो अपने लोगों का 'लोहे के हाथों' से दम घोंटना चाहते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.