top menutop menutop menu

अमेरिका की नाक के नीचे से दो ईरानी टैंकर पहुंचे वेनेजुएला, प्रतिबंधों को तोड़कर पहुंचाया तेल

अमेरिका की नाक के नीचे से दो ईरानी टैंकर पहुंचे वेनेजुएला, प्रतिबंधों को तोड़कर पहुंचाया तेल
Publish Date:Mon, 25 May 2020 10:24 PM (IST) Author: Krishna Bihari Singh

दुबई, रायटर। पांच तेल टैंकरों में से पहले ईरानी तेल टैंकर फॉर्चून ने वेनेजुएला के अल पालितो तेलशोधक कारखाने के नजदीक समुद्र तट पर लंगर डाल दिया है। यह जानकारी वेनेजुएला के तेल मंत्री ने दी है। साथ ही दूसरा तेल टैंकर फॉरेस्ट भी दक्षिण अमेरिकी देश की सीमा में प्रविष्ट होने की सूचना है। उल्लेखनीय है कि ईरान और वेनेजुएला, दोनों ही तेल संपन्न देश अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना कर रहे हैं।

ईरान एक समझौते के तहत वेनेजुएला को 15.3 लाख बैरल गैसोलीन और रिफायनिंग पेट्रोलियम सामग्री वेनेजुएला को उपलब्ध करा रहा है। हालांकि अमेरिका ने इस आपूर्ति की निंदा की है। सोमवार सुबह दूसरे तेल टैंकर फॉरेस्ट के वेनेजुएला के नजदीक पहुंचते ही वहां की नौसेना ने उसे अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया। वेनेजुएला की नौसेना ने ट्विटर पर यह जानकारी दी है।

वेनेजुएला के तेल मंत्री तारेक अल अइसामी ने फॉर्चून के तट पर आने की फोटो ट्विटर पर पोस्ट की है। अइसामी ने का है कि जहाजों का आना-जाना जारी रहेगा। अमेरिकी प्रतिबंधों की अनदेखी कर हो रहे इस व्यापार पर ट्रंप प्रशासन के अधिकारी ने कहा था कि वाशिंगटन जहाजों के आवागमन पर कार्रवाई करने पर विचार कर सकता है। लेकिन बीते हफ्ते अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, उसे अमेरिकी सेना की ओर से कोई कार्रवाई होने की जानकारी नहीं है।

ईरान से वेनेजुएला पहुंचे दोनों तेल टैंकरों को भी मार्ग में किसी तरह की रुकावट या कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ा है। अमेरिकी प्रतिबंधों के चलते वेनेजुएला गैसोलीन का उत्पादन नहीं कर पा रहा है, इसलिए वह गैसोलीन की किल्लत का सामना कर रहा है। प्रतिबंधों से पूर्व उसकी प्रतिदिन 13 लाख बैरल गैसोलीन का शोधन करने की क्षमता थी, जो अब करीब ठप है। अमेरिका ने राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के पद से न हटने के विरोध में वेनेजुएला पर प्रतिबंध लगाया है।

मादुरो अमेरिका विरोधी समाजवादी दल की ओर से राष्ट्रपति हैं। अमेरिका के अनुसार मादुरो ने 2018 के चुनाव में गड़बड़ी करवाकर सत्ता पर कब्जा किया है। ईंधन की कमी से जूझ रहा वेनेजुएला टैंकर के पहुंचने पर बेहद खुश है। विदेश मंत्री जॉर्ज अरियजा ने ट्वीट कर कहा कि ईरान और वेनेजुएला ने बुरे वक्त में हमेशा एक-दूसरे का साथ दिया है। गैसोलीन के साथ पहला जहाज हमारे लोगों के लिए पहुंच गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.