अमेरिका पढ़ने गए भारतीय युवक को कैद की सजा, कर रहा था ठगी का धंधा

अमेरिका पढ़ने गए भारतीय युवक को कैद की सजा, कर रहा था ठगी का धंधा
Publish Date:Thu, 06 Aug 2020 07:47 AM (IST) Author: Monika Minal

वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका के फेडरल कोर्ट ने एक भारतीय मूल के शख्स को एक साल से अधिक की कैद की सजा सुनाई है। स्टूडेंट वीजा के आधार पर अमेरिका में रहने वाले 29 वर्षीय अनिक्खान युसुफ खान पठान ( Anikkhan Yusufkhan Pathan) ने करीब 200 लोगों के साथ ठगी की और 1, 50,000 डॉलर कमाए।

कोर्ट ने उसपर आरोप लगाया है कि भारत में किसी शख्स के साथ मिलकर उसने अमेरिका के करीब 200 लोगों के साथ कम से कम 1, 50,000 डॉलर की धोखाधड़ी की है। वर्जीनिया के यूएस अटॉर्नी जी जचारी टरविल्गर ( G Zachary Terwilliger) ने बताया, 'अन्निखान ने अंतरराष्ट्रीय फ्रॉड स्कीम के तहत 200 मेहनती अमेरिकियों के साथ ठगी के धंधे को अंजाम दिया।' साजिशकर्ता उन लोगों को अपना शिकार बनाते थे जो बैंक में लोन के लिए अप्लाई करते थे या फिर किसी कंपनी के साथ बिजनेस करने वाले लोगों का शिकार करते थे। पठान के पीछे भारत में मौजूद साजिशकर्ता के शिकार वे लोग बनते थे जो मोर्गेज ( mortgages) और लोन के लिए आवेदन करते थे। 

पठान ने 67 फर्जी पहचान पत्रों का इस्तेमाल किया सभी पर उसके अलग-अलग नाम और उसकी तस्वीरें थीं जिसका इस्तेमाल उसने ठगी के लिए किया। इन पैसों का कुछ हिस्सा पठान अपने लिए रखता और बाकी पैसों को वह भारत में मौजूद साजिशकर्ताओं को ट्रांसफर कर देता था। 2017 के अप्रैल से नवंबर तक उसने 200 से अधिक ट्रांजैक्शन किए। पठान ने 150,000 डॉलर जमा कर लिए थे जो देश भर में रहने वाले सैंकड़ों लोगों ने उसे भेजा था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.