अमेरिका: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भारतीय मूल का ट्रक ड्राइवर दोषी, जेल व जुर्मानेे का करना होगा भुगतान

अमेरिका में एक भारतीय ट्रक ड्राइवर पर मनी लॉन्ड्रिंग और हथियार रखने के जुर्म में 15 महीने के लिए कैद की सजा दी गई है और 4710 डॉलर का जुर्माना लगा है। यह जानकारी यहां के कानून विभाग की ओर से मिली है।

Monika MinalSat, 31 Jul 2021 11:04 AM (IST)
मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भारतीय मूल का ट्रक ड्राइवर दोषी

वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका में एक भारतीय ट्रक ड्राइवर पर मनी लॉन्ड्रिंग और हथियार रखने के जुर्म में 15 महीने के लिए कैद की सजा दी गई है और 4,710 डॉलर का जुर्माना लगा है। यह जानकारी यहां के कानून विभाग की ओर से मिली है।  मनी लॉन्ड्रिंग केे एक मामले में इंडियाना में रहने वाले लवप्रीत सिंह को दोषी करार दिया गया है।

अमेरिका के कानून विभाग के अनुसार, इंडियाना के लवप्रीत सिंह ने मार्च में मनी लॉन्ड्रिंग का एक आरोप स्वीकार कर लिया था। उसने एक धोखाधड़ी योजना के तहत अपने एक साथी से धन लेने और उसे कहीं और पहुंचाने का दोष स्वीकार किया साथ ही गैरकानूनी रूप से हथियार रखने का भी आरोप स्वीकार किया। 

विभाग की ओर से शुक्रवार को जानकारी दी गई कि ट्रक ड्राइवर के तौर पर काम करने वाले लवप्रीतसिंह को 15 महीने की जेल की सजा हुई है और उसपर धन शोधन तथा हथियार रखने के जुर्म में 4,710 डॉलर का जुर्माना लगाया गया है। कोर्ट के पास मौजूद साक्ष्यों के मुताबिक लवप्रीत सिंह ने 2015 से लेकर 2018 तक अमेरिका तथा भारत में नौ अन्य लोगों के साथ मिलकर धोखाधड़ी, मेल धोखाधड़ी और बैंक धोखाधड़ी की।

लवप्रीत सिंह समेत सात साजिशकर्ताओं ने अमेरिका के विभिन्न लोगों से उनके इमेल एड्रेस, टेलीफोन नंबर व अन्य व्यक्तिगत जानकारियां हासिल की और अमेरिका व मिसीसिप्पी में अलग अलग जगहों पर विभिन्न व्यापारिक संस्थाओं को खोल लिया। इन्होंने भारत में टेलीफोन कॉलिंग सेंटर खोले। कोर्ट में मौजूद कागजातों के अनुसार, उन्होंने खुद को गलत तरीके से प्रस्तुत किया। इन सभी आरोपियों ने खुद को एपल सपोर्ट या माइक्रोसॉफ्ट या अन्य तकनीकी सपोर्ट बताकर सॉफ्टवेयर को हटा दिया।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.