अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता लाने की कोशिश करेगा भारत, आतंकवाद के खिलाफ जारी रहेगी जंग

यूएनएससी में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि देश में लगातार हिंसा बढ़ रही है। नागरिकों विशेषकर महिलाओं लड़कियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है।

Manish PandeyMon, 02 Aug 2021 03:15 PM (IST)
यूएनएससी का अध्यक्ष बनने पर तिरुमूर्ति ने बताई प्राथमिकता

न्यूयार्क, एएनआइ। अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता लाना भारत की पहली प्राथमिकता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में भारत के अध्यक्ष पद संभालने के पहले दिन स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति ने प्राथमिकता बताते हुए यह बात कही। तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि लगातार हिंसा बढ़ रही है। नागरिकों विशेषकर महिलाओं, लड़कियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है।

इस मौके पर विशेष साक्षात्कार में तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान की नीति के संबंध में बात की। उन्होंने कहा कि हम इस महीने अफगानिस्तान की स्थिति का जायजा लेंगे। यहां सुरक्षा परिषद की सक्रियता को किसी भी रूप में कम नहीं होने देंगे। अध्यक्ष पद पर रहकर हम उन सभी सदस्यों की पहल का समर्थन करेंगे, जो अफगानिस्तान में शांति लाने के प्रयास कर रहे हैं या वहां स्थिरता ला सकते हैं।

तिरुमूर्ति की यह टिप्पणी तब आती है, जब उनसे पूछा गया कि अफगानिस्तान के मामले में भारत की क्या योजना है। स्थायी प्रतिनिधि ने कहा कि भारत ने सुरक्षा परिषद के अंदर और बाहर हमेशा से ही आंतकवाद की समस्या पर दुनियाभर का ध्यान केंद्रित किया है। यही नहीं भारत की हमेशा कोशिश रही है कि आतंकवाद की फंडिंग रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई की जाए। आतंकवाद का पूरी तरह खात्मा हो।

भारत के संयुक्त राष्ट्र में शीर्ष राजदूत तिरुमूर्ति ने कहा कि अफगानिस्तान के मामले में हमने हमेशा उसके स्वतंत्र, शांतिपूर्ण, लोकतांत्रिक देश होने के लिए पैरवी की है। जो पूरी तरह से स्थिर और खुशहाल रहे। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर पहले ही कह चुके हैं कि अफगानिस्तान में ऐसी सरकार रहनी चाहिए, जो वहां की जनता की नजर में कानून सम्मत और वैध होनी चाहिए। यही चिंता सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों की भी होगी।

भारत पर हम सावधानी से नजर रखेंगे : पाकिस्तान

भारत के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष बनने पर पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र में दूत मुनीर अकरम ने कहा है कि उनकी भारत की अध्यक्षता के दौरान नजर रहेगी। उन्होंने एक्सप्रेस ट्रिब्यून से कहा, 'हम नजर रखेंगे, लेकिन चिंतित नहीं हैं।'

-----------------------

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.