जानें कैसा रहा अमेरिका में प्रधानमंत्री का दूसरा दिन, विदेश सचिव ने प्रेस कान्फ्रेंस में दी जानकारी

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दूसरे दिन का ब्यौरा दिया। विदेश सचिव ने आज हुए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री मोदी के बीच की द्विपक्षीय बैठक के बारे में बताया।

Monika MinalSat, 25 Sep 2021 03:05 AM (IST)
आज शाम न्यूयार्क रवाना होंगे प्रधानमंत्री मोदी, 25 को UNGA के 76वें सत्र को करेंगे संबोधित

 वाशिंगटन, एएनआइ। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दूसरे दिन का ब्यौरा दिया। विदेश सचिव ने आज हुए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री मोदी के बीच की द्विपक्षीय बैठक और क्वाड समिट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडन के कार्यभार संभालने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की यह पहली मुलाकात थी। 

विदेश सचिव ने बताया कि अगले दिन संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करने के लिए  प्रधानमंत्री मोदी न्यूयार्क रवाना होंगे। विदेश सचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय पेशेवरों के लिए एच1बी वीजा का मुद्दा भी उठाया। इसके अलावा क्वाड समिट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे अगले माह तक बायोलाजिकल ई द्वारा विकसित जानसन एंड जानसन वैक्सीन की 8 मिलियन खुराक मुहैया कराएगी।

बाइडन ने की भारत सरकार की सराहना

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने बताया, 'राष्ट्रपति जो बाइडन ने कोविड की दूसरी लहर के दौरान भारत सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की सराहना की। उन्होंने भारत सरकार द्वारा वैक्सीन का निर्यात फिर से शुरू करने के फैसले का स्वागत किया।' विदेश सचिव ने बताया, 'भारत-अमेरिका रक्षा संबंधों पर भी चर्चा हुई। दोनों पक्षों द्वारा डिफेंस में नए हाई टेक्नोलाजी प्रोजेक्ट पर साथ काम करने की इच्छा जताई गई।'

तालिबान, अफगान और आतंकवाद पर भी चर्चा

विदेश सचिव ने कहा, 'दोनों देशों (भारत-अमेरिका) ने अफगानिस्तान में आतंकवाद से लड़ाई के महत्व पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि तालिबान को UNSC प्रस्ताव 2593 के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का ध्यान रखना चाहिए और अफगान क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होना चाहिए।' विदेश सचिव के अनुसार आतंकवाद के मुद्दे पर भारत को अमेरिका का साथ मिला है। उन्होंने कहा, 'दोनों देशों (भारत-अमेरिका) ने इस बात पर सहमति जताई कि आतंकवाद एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। दोनों देशों ने आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रतिबद्धता जताई। राष्ट्रपति जो बाइडन ने स्पष्ट तौर पर व्यक्त किया कि भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए।'

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.