नीरा टंडन की नियुक्ति पर सीनेट में गतिरोध, बाइडन ने पहली अश्वेत महिला को नामित किया है OMB का निदेशक

नीरा टंडन को लेकर अमेरिका में सियासत गरम, नियुक्ति पर संशय। फाइल फोटो।

भारतीय-अमेरिकी नीरा टंडन के पहली अश्वेत महिला के रूप में व्हाइट हाउस के बजट प्रबंधन कार्यालय (ओएमबी) के निदेशक पद पर नियुक्ति में संशय की स्थिति बन गई है। नीरा को इस पद के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन ने नामित किया है।

Ramesh MishraTue, 23 Feb 2021 05:08 PM (IST)

वाशिंगटन, एजेंसी। भारतीय-अमेरिकी नीरा टंडन के पहली अश्वेत महिला के रूप में व्हाइट हाउस के बजट प्रबंधन कार्यालय (ओएमबी) के निदेशक पद पर नियुक्ति में संशय की स्थिति बन गई है। नीरा को इस पद के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन ने नामित किया है। उनकी इसी सप्ताह सीनेट में सुनवाई के बाद नियुक्ति की जानी है। संशय तीन रिपब्लिकन और एक डेमोक्रेटिक सांसदों के विरोध के कारण हो रहा है। इन सभी सांसदों ने नीरा टंडन के इंटरनेट मीडिया पर व्यवहार को गलत माना है।

व्‍हाइट हाउस ने कहा गतिरोध दूर किया जाएगा

नीरा टंडन ने पद पर नियुक्ति से पहले एक हजार से ज्यादा पोस्ट इंटरनेट मीडिया से हटाए हैं। उन्होंने अपनी सुनवाई के दौरान इंटरनेट मीडिया पर अपनी पोस्ट को लेकर माफी भी मांगी है। नीरा की नियुक्ति पर संदेह के बादल घिरने पर व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन साकी ने कहा है कि हम विरोध करने वाले सभी सांसदों से संपर्क कर रहे हैं। हम किसी भी बात को हल्के में नहीं ले रहे हैं। डेमोक्रेटिक सांसद की जो शिकायत है, उसे भी दूर किया जाएगा।

रिपब्लिकन और कुछ डेमोक्रेट्स कर रहे हैं विरोध

ओहियो से रिपब्लिकन सांसद रॉब पोर्टमैन ने कहा कि वह नीरा टंडन के खिलाफ मतदान करेंगे। दो अन्य रिपब्लिकन सांसद सूसन कॉलिंस और मिट रोमनी ने भी नीरा की नियुक्ति का विरोध किया है। डेमोक्रेटिक सांसद जो मानचिन पहले ही विरोध की घोषणा कर चुके हैं। पोर्टमैन पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कार्यकाल में ओएमबी (ऑफिस ऑफ मैनेजमेंट ऑफ बजट) के निदेशक रह चुके हैं। सीनेट में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों के पचास-पचास सांसद हैं। 

एक और भारतीय की महत्वपूर्ण पद पर नियुक्ति

जो बाइडन प्रशासन ने भारतीय-अमेरिकी बिदिशा भट्टाचार्य को ऊर्जा विशेषज्ञ के रूप कृषि विभाग में नियुक्त किया है। बिदिशा तीन साल सौर ऊर्जा पर भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर चुकी हैं। वह फार्म सर्विस एजेंसी (एफएसए) में सीनियर पॉलिसी एडवाइजर के रूप में काम करेंगी। उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पब्लिक पॉलिसी पर परास्नातक और सेंट ओल्फ कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक डिग्री हासिल की है। उन्हें कई सस्थानों में विभिन्न पदों पर काम करने का अनुभव है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.