ट्रंप बोले, चीन के साथ जल्‍द होगी ट्रेड डील के दूसरे दौर की बातचीत, चीन से कभी नहीं रहे बेहतर रिश्‍ते

ट्रंप बोले, चीन के साथ जल्‍द होगी ट्रेड डील के दूसरे दौर की बातचीत, चीन से कभी नहीं रहे बेहतर रिश्‍ते

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने कहा है कि अमेरिका-चीन व्यापार समझौते का दूसरा दौर जल्‍द शुरू होगा। चीन से उनके रिश्‍ते कभी भी बेहतर नहीं रहे...

Publish Date:Tue, 21 Jan 2020 05:56 PM (IST) Author: Krishna Bihari Singh

दावोस, पीटीआइ। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका-चीन व्यापार समझौते का दूसरा दौर जल्‍द शुरू होगा। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि चीन से हमारे रिश्‍ते कभी भी बेहतर नहीं रहे। हालांकि, उन्‍होंने यह जरूर कहा कि चीनी राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग के साथ उनके असाधारण रिश्‍ते हैं। चिनफिंग चीन के प्रति समर्पित हैं तो मैं अमेरिका के लिए लेकिन इससे इतर हम एक दूसरे से प्रेम करते हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति वर्ल्‍ड इकॉनमिक फोरम (World Economic Forum, WEF) के वार्षिक सम्‍मेलन में बोल रहे थे।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने यह भी घोषणा की कि अमेरिका वर्ल्‍ड इकॉनमिक फोरम के एक हजार अरब पेड़ों की पहल में शामिल होगा। ट्रंप ने कहा कि हमें कयामत के बारहमासी भविष्‍यवक्‍ताओं को खारिज करना चाहिए जो भय पैदा करने वाली भविष्यवाणियां करते रहे हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने संबोधन में अपनी सरकार के जनहित के कार्यों का भी उल्‍लेख किया। उन्‍होंने कहा कि वर्षों की आर्थिक गतिहीनता ने अवसर के नए रास्‍ते को खोल दिया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हमने नौकरियां खत्‍म करने वाले नियमों को हटाने का एक ऐतिहासिक कदम शुरू किया है। हम सभी पुराने कानूनों को हटा रहे हैं। आज मैं दूसरे मुल्‍कों से भी आग्रह करता हूं कि वे भी हमारे कदमों का पालन करें और लोगों को नौकरशाही एवं अन्य पुराने कानूनों की बेड़ियों से आजाद करें। धरती पर अमेरिका की तारीफ करते हुए उन्‍होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका की तुलना में इस पृथ्वी पर कोई भी बेहतर जगह नहीं है।

उल्‍लेखनीय है कि बीते दिनों अमेरिका और चीन ने प्राथमिक व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। डोनाल्ड ट्रंप ने इस समझौते को ऐतिहासिक बताया था। दोनों देशों के बीच इस समझौते तक पहुंचने के लिए कई दौर की बातचीत हुई, जो करीब एक साल तक चली। इस डील में बौद्धिक संपदा, टेक्नोलॉजी ट्रांसफर, अमेरिकी कृषि उत्पाद, फाइनेंशियल सर्विसेज, करेंसी मैनीपुलेशन, ट्रेड रिलेशनशिप को दोबारा संतुलित करना शामिल है। हालांकि ट्रंप ने कहा था कि दूसरे फेज के लिए सहमति बनने तक चीनी उत्‍पादों पर एक्स्ट्रा टैरिफ जारी रहेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.