Beirut Blast: अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने बेरुत में हमले के दावों के संबंध में ट्रंप का विरोध किया, पढ़ें क्या है मामला

Beirut Blast: अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने बेरुत में 'हमले' के दावों के संबंध में ट्रंप का विरोध किया, पढ़ें क्या है मामला

अमेरिकी रक्षा विभाग के तीन अधिकारियों ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि ट्रंप वास्तव में क्या बात कर रहे थे।

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 08:59 AM (IST) Author: Nitin Arora

अटलांटा, एएनआइ। अमेरिकी रक्षा विभाग के अधिकारियों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का खंडन करते हुए कहा है कि इस बात के कोई स्पष्ट संकेत नहीं हैं कि बेरुत में बड़े पैमाने पर कोई विस्फोटक 'हमला' किया गया था। सीएनएन रिपोर्ट करते है, 'अमेरिकी रक्षा विभाग के तीन अधिकारियों ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि ट्रंप वास्तव में क्या बात कर रहे थे।' सीएनएन के अनुसार, एक अधिकारी ने कहा कि अगर उस क्षेत्र में किसी बड़े हमले और कोई जानबूझ के किए गए कृत्य सामने आते हैं तो क्षेत्र में अमेरिकी सैनिकों की वृद्धि शुरू हो जाएगी।

इससे पहले, मंगलवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए, ट्रंप ने विस्फोट होने के बाद लेबनान के लोगों के प्रति सहानुभूति पेश की थी और उन्होंने इस घटना को 'भयानक हमला' करार दिया। व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत में ट्रंप ने कहा था, 'अमेरिकी सेना के कई जनरल ने मुझे बताया है कि बेरुत का धमाका किसी तरह के बम से अंजाम दिया गया है, लेबनान ने इसे हमला नहीं बताया है लेकिन ये ऐसा ही नजर आता है। ट्रंप ने आगे कहा कि ये किसी भी तरह से देखा जाए दुनिया के लिए एक नुकसान जैसा ही है। ट्रंप ने दावा किया कि ये एक बेहद घातक हमले की तरह नजर आ रहा है।'

उन्होंने आगे कहा कि लेबनान को इस घटना को बम धमाके के एंगल से भी जांच करनी चाहिए। बता दें कि लेबनान की राजधानी बेरुत में मंगलवार को एक बड़ा धमाका हुआ था, जिससे कई इमारतों को नुकसान पहुंचा। अल जज़ीरा ने बताया था कि विस्फोट का बल काफी अधिक था और इससे सड़कों पर दहशत फैल गई और हर जगह कांच के टुकड़े दिखाई दिए। हालांकि विस्फोट का कारण अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन प्रारंभिक रिपोर्टों में कहा गया है कि विस्फोट बेरुत के बंदरगाह क्षेत्र में हुआ था जिसमें गोदाम थे। उनमें एक गोदाम में पटाखे जमा किए गए थे, जहां धमाका हुआ।

बेरुत में मंगलवार को हुए भीषण विस्फोट में 70 से अधिक लोग मारे गए, जबकि हजारों लोग घायल हो गए थे। इसमें इमारतें टूट गईं और व्यापक नुकसान पहुंचा। धमाका इतना भीषण था कि 10 किलोमीटर के दायरे में मौजूद घरों को नुकसान पहुंचा है।

यह भी देखें: लेबनान की राजधानी बेरूत में धमाके में 70 से ज्यादा लोगों की गई जान, 3,700 लोग घायल

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.