संयुक्त राष्ट्र की बैठक में डॉक्टर हर्षवर्रधन बोले, कोरोना ने लाखों के लिए खाद्य सुरक्षा बाधित किया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन की फाइल फोटो

संयुक्त राष्ट्र की ओर से जनसंख्या खाद्य सुरक्षा पोषाहार एवं स्थायी विकास पर आयोजित वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए हर्षवर्धन ने उपरोक्त टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि भारत सरकार खाद्य सुरक्षा एवं पोषाहार को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है।

Dhyanendra Singh ChauhanTue, 20 Apr 2021 06:27 PM (IST)

संयुक्त राष्ट्र, एजेंसियां। कोरोना महामारी ने दुनिया भर में लाखों लोगों के लिए खाद्य सुरक्षा और पोषाहार मुहैया कराने की व्यवस्था को बुरी तरह से प्रभावित किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि इसके चलते 2030 तक भुखमरी समाप्त करने के लक्ष्य को हासिल करने की राह कठिन हो सकती है।

संयुक्त राष्ट्र की ओर से 'जनसंख्या, खाद्य सुरक्षा, पोषाहार एवं स्थायी विकास' पर आयोजित वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए हर्षवर्धन ने उपरोक्त टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि भारत सरकार खाद्य सुरक्षा एवं पोषाहार को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है। पिछले कुछ वर्षो में लागू की गई योजनाएं इसका प्रमाण हैं। इस दौरान संयुक्त राष्ट्र उप महासचिव ने कहा कि महामारी ने जीवनयापन के स्रोतों को तबाह कर दिया है। अन्याय और गैर बराबरी को बढ़ा दिया है।

कोरोना ने वैश्विक राजनीति की कई असुविधाजनक सच्चाइयों को सामने ला दिया: एस जयशंकर

बता दें कि पिछले दिनों विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा था कि कोरोना ने वैश्विक राजनीति की कई असुविधाजनक सच्चाइयों को सामने ला दिया है। इसने सप्लाई चेन के वैश्वीकरण को लेकर भी कुछ गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। साथ ही तनाव के काल में कुछ राष्ट्र किस तरह से व्यवहार कर सकते हैं, यह भी सभी के सामने आ गया है। जयशंकर ने कहा था कि न सिर्फ कूटनीति पर कोरोना के असर को सारगर्भित तरीके से रखा, बल्कि भारत किस तरह से अपने हितों को आगे बढ़ा रहा है, इसके भी संकेत दिए।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.