ओमिक्रोन को लेकर शुरुआती रिपोर्ट उत्साहजनक, डेल्टा से कम खतरनाक हो सकता साबित : डा. फासी

अमेरिका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस का ओमिक्रोन वैरिएंट तेजी से पूरे देश में फैल रहा है लेकिन शुरुआती संकेत बताते हैं कि यह डेल्टा से कम खतरनाक हो सकता है जिससे अस्पताल में मरीजों का भर्ती होने का सिलसिला जारी है।

TaniskPublish:Mon, 06 Dec 2021 03:37 AM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 03:37 AM (IST)
ओमिक्रोन को लेकर शुरुआती रिपोर्ट उत्साहजनक, डेल्टा से कम खतरनाक हो सकता साबित : डा. फासी
ओमिक्रोन को लेकर शुरुआती रिपोर्ट उत्साहजनक, डेल्टा से कम खतरनाक हो सकता साबित : डा. फासी

वाशिंगटन, एपी। अमेरिका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस का ओमिक्रोन वैरिएंट तेजी से पूरे देश में फैल रहा है, लेकिन शुरुआती संकेत बताते हैं कि यह डेल्टा से कम खतरनाक हो सकता है, जिससे अस्पताल में मरीजों का भर्ती होने का सिलसिला जारी है। राष्ट्रपति जो बाइडन के मुख्य स्वास्थ्य सलाहकार डा एंथोनी फासी ने रविवार को सीएनएन के 'स्टेट ऑफ द यूनियन' को बताया कि वैज्ञानिकों को ओमिक्रोन की गंभीरता के बारे में कुछ भी निष्कर्ष निकालने से पहले अधिक जानकारी की आवश्यकता है।

फासी ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में इसका प्रभाव सबसे ज्यादा दिख रहा। वहां की रिपोर्ट से पता चलता है कि अस्पताल में मरीजों के भर्ती होने के दर में खतरनाक वृद्धि नहीं हुई है। ऐसे में अब तक ऐसा नहीं लग रहा कि यह बहुत गंभीर रोग पैदा कर रहा है, लेकिन हमें कोई भी निष्कर्ष निकालने से पहले सावधान रहना होगा। अभी यह कहना कि नया वैरिएंट कम गंभीर है या डेल्टा की तुलना में कोई गंभीर बीमारी का कारण नहीं बनता है जल्दबाजी होगी।

फासी ने आगे कहा कि बाइडन प्रशासन कई अफ्रीकी देशों पर से यात्रा प्रतिबंध हटाने पर विचार कर रहा है। ओमिक्रोन वैरिएंट के कारण यह प्रतिबंध लगाया था। कई अन्य देशों ने ऐसा किया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतेरेस ने इसकी निंदा की है। रविवार तक अमेरिका के लगभग एक तिहाई राज्यों में ओमिक्रोन की पुष्टि हो गई है। हालांकि, अभी भी यहां डेल्टा के मामले अधिक सामने आ रहे  है।

इस बीच अमेरिकी अधिकारियों ने लोगों से कोरोना टीकाकरण करने और बूस्टर डोज लेने का आग्रह करना जारी रखा है। साथ ही मास्क पहनने जैसी सावधानी बरतने का भी आग्रह किया। जो सावधानियां डेल्टा से बचाने में मदद करती हैं, वो अन्य स्ट्रेन से बचाने में भी मदद करेंगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन के महामारी विज्ञानी डा मारिया वान केरखोव ने सीबीएस के 'फेस द नेशन' को बताया भले ही ओमिक्रोन, डेल्टा से कम खतरनाक साबित हो, लेकिन यह समस्या का करण बना हुआ है।