हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के खिलाफ तीन प्रमुख देशों का गठजोड़, आस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी देगा अमेरिका

अमेरिका ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया संयुक्त रणनीति पर करेंगे काम। आस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी देगा अमेरिका। सुरक्षा के लिए शुरू की गई नई पहल के संबंध में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काट मारिसन ने संयुक्त बयान जारी किया है।

Nitin AroraThu, 16 Sep 2021 05:08 PM (IST)
हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के खिलाफ तीन प्रमुख देशों का गठजोड़, आस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी देगा अमेरिका

वाशिंगटन, प्रेट्र। हिंद प्रशांत क्षेत्र में नई चुनौतियों का मुकाबला करने और चीन के खिलाफ मजबूती से खड़ा होने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया ने एक नए त्रिपक्षीय गठजोड़ की घोषणा की है। समझौते के तहत आस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी से लैस किया जाएगा। तीनों ही देश उन्नत सामरिक तकनीक एक दूसरे से साझा करेंगे।

सुरक्षा के लिए शुरू की गई नई पहल के संबंध में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काट मारिसन ने संयुक्त बयान जारी किया है। बयान में कहा गया है कि उनका यह कदम हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता लाने में मदद करेगा और उनके हितों और साझा मूल्यों को इससे बल मिलेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि एयूकेयूएस (आस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, अमेरिका) के नाम से बनाया गया यह संगठन ऐतिहासिक कदम है। तीनों ही देश क्षेत्र में स्थिरता लाने के लिए साइबर-क्वाटंम टेक्नालाजी के साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को आपस में साझा करेंगे।

इस संगठन की एक बड़ी पहल के तहत आस्ट्रेलिया को परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बियों का बेड़ा उपलब्ध कराया जाएगा। 18 महीनों में तीनों देशों के तकनीकी और नौसैनिक विशेषज्ञ आस्ट्रेलिया की ताकत बढ़ाने के लिए कार्य करेंगे। इस समझौते में सबसे ज्यादा फायदा आस्ट्रेलिया को ही मिलने जा रहा है।

समझौते के दौरान ही आस्ट्रेलिया का फ्रांस से 2016 में हुआ 40 बिलियन डालर का पनडुब्बी सौदा रद कर दिया है। अब ये पनडुब्बी अमेरिका देगा।

एयूकेयूएस के गठन की घोषणा क्वाड में शामिल देशों के नेताओं की 24 सितंबर को होने वाली बैठक से पहले की गई है। क्वाड की बैठक अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की मेजबानी में होगी, इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जापानी प्रधानमंत्री योशिहिदा सुगा और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काट मारिसन बैठक करेंगे।

पनडुब्बी सौदा रद होने पर भड़का फ्रांस

रायटर के अनुसार, आस्ट्रेलिया से 2016 में हुआ पनडुब्बी सौदा रद होने से फ्रांस भड़क गया है। फ्रांस के विदेश मंत्री जीन यवेस ले ड्रियान ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने आस्ट्रेलिया से उनका पनडुब्बी सौदा रद कराके वही काम किया है, जो उनके पूर्ववर्ती राष्ट्रपति ट्रंप ने किया था। उन्होंने कहा कि 40 बिलियन डालर का उनका पनडुब्बी सौदा रद करना अमेरिका का एक तरफा फैसला है। अभी दो सप्ताह पहले ही आस्ट्रेलिया के रक्षा और विदेश मंत्री ने अपने समकक्षों के साथ इस सौदे की पुष्टि की थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.