Howdy Modi के बाद भारत-अमेरिका के बीच हो सकता है कारोबारी समझौता, मुलाकात के ये हैं असल मायने

वाशिंगटन, रायटर। अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में होने वाली मेगा रैली 'हाउडी मोदी' के बाद ट्रेड को लेकर दोनों देशों के बीच कोई बड़ा फैसला हो सकता है। भारत और अमेरिका के बीच हाल में कारोबार के क्षेत्र में आई तल्खियों को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बड़ा कदम उठा सकते हैं। दरअसल, अमेरिका तथा भारत के बीच एक सीमित व्यापार समझौते को लेकर वार्ता चल रही है, जिसपर इस महीने के अंत में मोदी और ट्रंप हस्ताक्षर कर सकते हैं।

सूत्रों का कहना है कि भारत के साथ जिस समझौते को लेकर चर्चा चल रही है, उससे कुछ अमेरिकी उत्पादों पर शुल्क कम होगा और कुछ भारतीय उत्पादों को अमेरिका में निर्यात पर तरजीही व्यवस्था फिर से बहाल होगी। ट्रंप तथा मोदी रविवार को ह्यूस्टन में अमेरिका में रहने वाले भारतीयों की रैली 'हाउडी मोदी' में मुलाकात करेंगे।

बेहतर व्यापार शर्त की मांग

ट्रंप ने भारत से अमेरिका की शीर्ष कंपनियों के लिए एक बेहतर व्यापार शर्त की मांग की है और उन्होंने पिछले समझौतों से अमेरिका के मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में लाखों नौकरियों के खत्म होने का आरोप लगाया था।

अमेरिका तथा भारत के कारोबारी रिश्तों में काफी समय से तल्खी बनी हुई है। अमेरिका ने भारत पर बार-बार भारी टैरिफ लगाने का आरोप लगाया है। हालांकि, अमेरिका के कारोबारी प्रतिनिधि ने यूएस-इंडिया के बीच वार्ता पर कोई टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया।

अमेरिका का भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार पिछले साल 142 अरब डॉलर (10 लाख करोड़ रुपये से अधिक)का रहा, जो उसके चीन के साथ कुल 737 अरब डॉलर (लगभग 52 लाख करोड़ रुपये) के व्यापार का एक छोटा सा हिस्सा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.