जनता जनार्दन के पैरों पर नतमस्तक होकर मांग रहें हैं नेता-मंत्री वोट

संवाद सूत्र, रायगंज : कालियागंज विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा, तृका व माकपा-काग्रेस प्रचार कार्यक्त्रम में कोई कसर छोड़ने को तैयार नहीं है। ऐसा लगता है यह चुनाव 2021 का ट्रेलर बन गया है। हर पार्टी के बड़े-बड़े दिग्गज नेता गाँव के गलियों में खाक छानते नजर आ रहे है। वी आई पी सुरक्षा कवच के साए में लग्ज़री गाड़ी में सैर करने और राजनीतिक मंच पर पुष्प वृष्टि में आप्लावित होने वाले नेता झुग्गी झोपड़ियों में नंग-धरंग व धूल-धूसरित पावों में नतमस्तक होते देखे जा रहें। सच मानिए तो गणतंत्र की गरिमा और जनता जनार्दन की महिमा का इससे अच्छा मिशाल हो ही नहीं सकता है। मंगलवार को तृणमूल प्रार्थी तपन देव सिंहो के पक्ष में प्रचार करने के लिए प्रदेश के मंत्री राजीव बंदोपाध्याय, विधायक प्रवीर, घोषाल, पूर्व सासद अर्पिता घोष, मंत्री गोलाम रब्बानी, प्रदेश सचिव असीम घोष, जिला अध्यक्ष कन्हैयालाल अग्रवाल समेत कई नेता मंत्री चुनावी दंगल में अड़े दिखे। केन्द्रीय सरकार की नीति व योजनाओं का बखान कर भाजपा प्रत्याशी कमल सरकार के पक्ष में जनाधार का अंबार लगाने में मशगूल भाजपा के दिग्गजों के भाषणों पर गिन गिन कर तृणमूल नेता प्रहार कर रहे थे। राजीव बनर्जी ने कहा कि वस्तुत: सरकार जनता के लिए होना चाहिए जबकि मौजूदा केन्द्र सरकार केवल भाजपा और चंद पूंजीपतियों के लिए है। भाजपा की नीतियों में धार्मिक उन्माद और सामाजिक तानाबाना को बिगाड़ने के अलावे कुछ भी नहीं है। धर्म निरपेक्ष राष्ट्र में समुदाय विशेष के बारे में अनाप सनाप कहना किस राष्ट्र हित की बात की जा रही है। एन आर सी को लेकर संवैधानिक अधिकार के दायरे में सभी सम्प्रदाय के प्रति समान दृष्टि भंगिमा उचित है. यह कैसे हो सकता है कि एक सम्प्रदाय शरणार्थी और दूसरा घुसपैठिए। दरअसल सरकार का मंशा सबका साथ है ही नहीं। राजनीतिक फायदा लेने के लिए यह सुर अलापा जा रहा है जबकि असम की तर्ज पर सभी को तबाह करने के उद्देश्य से भूमिका बनाया जा रहा है। यहाँ के लोग अब उनके झासे में आने वाले नहीं हैं। भाजपा लोगों को डरा कर सत्ता हथियाना चाहती लेकिन उन्हें पता होना चाहिए कि बंगाल के पहरेदार का नाम ममता बनर्जी है। उनके रहते यहा की जनता को कोई नुकसान पहुंचाना तो दूर, छू भी नहीं सकता है। किसी भी कीमत पर बंगाल के सौहार्दपूर्ण वातावरण को नष्ट नहीं होने देंगे।

कैप्शन : सभा को संबोधित करते मंत्री राजीव बनर्जी

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.