देहव्यापार के दलदल से निकलकर बांग्लादेश लौट रही दो बहनें अवैध तरीके से सीमा पार करते पकड़ी गईं

8वीं वाहिनी की सीमा चौकी झोरपाड़ा की सीमा पर तैनात जवानों ने दोनों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हुए गिरफ्तार किया जबकि बाकी चार से पांच लोग घनी झाड़ियों और अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग निकले।

Priti JhaPublish:Mon, 22 Nov 2021 09:51 AM (IST) Updated:Mon, 22 Nov 2021 09:51 AM (IST)
देहव्यापार के दलदल से निकलकर बांग्लादेश लौट रही दो बहनें अवैध तरीके से सीमा पार करते पकड़ी गईं
देहव्यापार के दलदल से निकलकर बांग्लादेश लौट रही दो बहनें अवैध तरीके से सीमा पार करते पकड़ी गईं

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर अंतर्गत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने नदिया जिले के सीमावर्ती इलाके से दो बांग्लादेशी लड़कियों को गैर कानूनी तरीके से सीमा पार जाने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बीएसएफ ने एक बयान में बताया कि रविवार को पुख्ता जानकारी के आधार पर 8वीं वाहिनी की सीमा चौकी झोरपाड़ा की सीमा पर तैनात जवानों ने दोनों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हुए गिरफ्तार किया जबकि बाकी चार से पांच लोग घनी झाड़ियों और अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग निकले। अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार की गईं दोनों लड़कियां सगी बहनें हैं और बांग्लादेश के सतखीरा जिले की रहने वाली हैं।

दलाल ने रोजगार का झांसा देकर दोनों बहनों को देह व्यापार में झोंका

पूछताछ में दोनों बहनों ने बताया कि एक महीने पहले उनकी मुलाकात नरेल जिले के रहने वाले सिप्पन नाम के व्यक्ति से हुई और उसने उन्हें भारत में अच्छा रोजगार दिलाने का वादा किया।

एक महीने पहले वे दोनों सिप्पन (कथित दलाल) के साथ अवैध तरीके से सीमा पार करके बंगाल के रास्ते भारत में दाखिल हुई। फिर दोनों बहनों को मुंबई ले जाया गया। आरोप है कि मुंबई के भिवंडी में सिप्पन ने इनमें से एक बहन को देह व्यापार में धकेल दिया और उसकी दूसरी बहन को भी धकेलना चाहता था। आगे उन्होंने बताया कि वे दोनो बहनें इस बीच पूजा (काल्पनिक नाम) नाम की एक महिला की मदद से वहां से भाग निकली।पूजा भी वहां देहव्यापार की दलदल में फंसी हुई थी। दोनों बहनों ने आगे बताया कि वहां से भागने के बाद वह वापस अपने परिवार के पास बांग्लादेश जा रही थी।

बांग्लादेश लौटने के लिए सीमा पार कराने को दलाल को 14 हजार रुपये भी दिए थे

उन्होंने बताया कि पूर्ण नाम के भारतीय दलाल को उन्होंने सीमा पार कराने के लिए 14 हजार रुपये भी दिए थे। बीएसएफ ने गिरफ्तार की गई दोनों लड़कियों को पुलिस थाना धनतला को आगे की कानूनी कार्यवाही हेतु सौंप दिया है। इधर, बीएसएफ अधिकारियों का कहना है कि मानव तस्कर दलाल बांग्लादेश की गरीब व भोली भाली लड़कियों को भारत में रोजगार व अच्छी नौकरी दिलाने का झांसा देकर उन्हें अवैध तरीके से सीमा पार करा कर लाते हैं और फिर यहां देह व्यापार जैसे दलदल में झोंक देते हैं। एक बार इस दलदल में फंसने के बाद इन लड़कियों व महिलाओं का जीवन तबाह हो जाता है। उन्होंने बताया कि इस तरह के धंधे में लिप्त दलालों को पकड़ने व उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए बीएसएफ सीमा पर कड़ी निगरानी रख रही है और इसके फलस्वरूप कई दलाल पकड़े भी जा रहे हैं।