West Bengal: कोरोना काल में दोगुना किराया वसूल रहे हैं टैक्सी चालक, अधिकांश टैक्सीवाले नहीं कर रहे हैं मीटर चालू

दोगुना किराया वसूल रहे हैं टैक्सी चालक,

टैक्सी चालकों का कहना है कि अभी जो हालात है ऐसा पहले कभी नहीं देखा है। एक तरफ कोरोना के कारण या​त्रियों की संख्या कम हो गई है वहीं दूसरी ओर पेट्रोल डीजल के दाम ने हमारी भी कमर तोड़ दी है लेकिन मनमाना किराया वसूलना गलत और गैरकानूनी है।

Priti JhaThu, 29 Apr 2021 08:55 AM (IST)

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। कोरोना काल में टैक्सी चालक दोगुना किराया वसूल रहे हैं। इन दिनों टैक्सी वाले अपने टैक्सी का मीटर चालू नहीं कर रहे हैं और लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। मनचाहा टैक्सी किराया वसूल रहे हैं। जिन या​​त्रियों को जल्दी जाना है या फिर किसी तरह की इमरजेंसी है, यह देखकर तो कई टैक्सीवाले जितना मन में आए किराया मांग रहे हैं। कुछ कहने पर डीजल – पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की दुहाई देने लगते हैं। वहीं अगर कुछ यात्री पुलिस कार्रवाई की बात करते हैं, उससे भी उन्हें कोई अंतर नहीं पड़ रहा है।

राज्य में मतदान चल रहा है। ऐसे में बसों की संख्या पहले से कम हो गई है। एक रुट में जहां रोजाना 10 बसों का परिचालन होता था, अभी वह घटकर 3 से 4 हो गया है। ऐसे में लोगों काे यातायात में पहले से ही असुविधाएं हो रही हैं। कुछ लोग शटल टैक्सी से तो कुछ मीटर से यातायात कर रहे हैं, लेकिन अधिकांश टैक्सीवाले तो मीटर से जाना ही नहीं चाहते हैं। बस की कमी होने से टैक्सी ड्राइवरों की चांदी ही है।

टैक्सी चालकों का कहना है कि अभी जो हालात है ऐसा पहले कभी नहीं देखा है। एक तरफ कोरोना के कारण या​त्रियों की संख्या कम हो गई है वहीं दूसरी ओर पेट्रोल डीजल के दाम ने हमारी भी कमर तोड़ दी है लेकिन मनमाना किराया वसूलना गलत और गैरकानूनी है। कुछ टैक्सीवालों के कारण हमलोगों को भी बदनाम होना पड़ रहा है। यात्री ऐसे टैक्सीवालों के खिलाफ कार्रवाई जरुरी है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.