Border Coordination Conference:भारत- बांग्लादेश सीमा पर और बढ़ेगी निगरानी, समन्वित गश्त बढ़ाने पर सहमति

भारत और बांग्लादेश के सीमा सुरक्षा बलों बीएसएफ व बीजीबी के बीच कोलकाता में आयोजित तीन दिवसीय महानिरीक्षक स्तरीय सीमा समन्वय सम्मेलन (बॉर्डर को-ऑर्डिनेशन कॉन्फ्रेंस) के दूसरे दिन भी बुधवार को दोनों देशों के अधिकारियों के बीच सौहार्दपूर्ण माहौल में सीमा प्रबंधन से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर बात हुई।

Vijay KumarWed, 23 Jun 2021 08:46 PM (IST)
सीमा समन्वय सम्मेलन के दौरान बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के महानिरीक्षक अश्विनी कुमार सिंह।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : भारत और बांग्लादेश के सीमा सुरक्षा बलों बीएसएफ व बीजीबी के बीच कोलकाता में आयोजित तीन दिवसीय महानिरीक्षक स्तरीय सीमा समन्वय सम्मेलन (बॉर्डर को-ऑर्डिनेशन कॉन्फ्रेंस) के दूसरे दिन भी बुधवार को दोनों देशों के अधिकारियों के बीच सौहार्दपूर्ण माहौल में सीमा प्रबंधन से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर बात हुई। कोविड-19 महामारी के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हो रही इस बैठक के दौरान‌ दोनों देशों के सीमा प्रहरियों ने अंतररराष्ट्रीय सीमा की पुख्ता सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्धता जताई।

इस दौरान सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) के बीच भारत-बांग्लादेश सीमा पर निगरानी और बढ़ाने पर सहमति बनीं।‌‌एक वरिष्ठ बीएसएफ अधिकारी ने बताया कि बैठक में सीमा पार अपराधों को रोकने के लिए दिन और रात में सीमा पर एक साथ समन्वित गश्त बढ़ाने, जानकारी साझा करने, संवेदनशील क्षेत्रों की पहचान करने आदि पर दोनों पक्षों में सहमति बनीं।‌

अधिकारी ने बताया कि गुरुवार, 24 जून को सम्मेलन के अंतिम दिन दोनों देशों के अधिकारी बैठक के दौरान‌ जिन मसलों पर सहमति बनी है, उससे संबंधित‌ दस्तावेज पर हस्ताक्षर करेंगे। इस सम्मेलन में 17 सदस्यीय बीजीबी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ब्रिगेडियर जनरल रकीबुल करीम चौधरी, एएफडब्ल्यूसी, पीएससी, अतिरिक्त महानिदेशक, रीजन कमांडर, उत्तर पश्चिम क्षेत्र, रंगपुर कर रहे हैं। प्रतिनिधिमंडल में बांग्लादेश के गृह व विदेश मंत्रालय एवं संयुक्त नदी आयोग के अधिकारी भी शामिल हैं।वहीं, बीएसएफ प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के महानिरीक्षक (आइजी) अश्विनी कुमार सिंह कर रहे हैं।

हर छह माह में दोनों देशों के सीमा प्रहरियों के बीच होने वाले इस सम्मेलन का उद्देश्य सीमा प्रभुत्व में सुधार करना और दोनों देशों के हित में सीमा संबंधी विभिन्न मुद्दों को हल करना है। साथ ही दोनों सीमा प्रहरियों के बीच दोस्ती को और मजबूत करना है। बीएसएफ प्रतिनिधिमंडल में रवि गांधी, महानिरीक्षक, बीएसएफ, उत्तर बंगाल फ्रंटियर, संजय सिंह गहलोत, महानिरीक्षक, गुवाहाटी फ्रंटियर, जितेंद्र कुमार रूदौला, उपमहानिरीक्षक, नोडल अधिकारी, बीएसएफ, गुवाहाटी फ्रंटियर, सुरजीत सिंह गुलेरिया, उपमहानिरीक्षक, नोडल अधिकारी, बीएसएफ, दक्षिण बंगाल फ्रंटियर, राजीव रंजन शर्मा, डीआइजी, नोडल अधिकारी, उत्तर बंगाल फ्रंटियर, केके मजूमदार, कमांडेंट और स्टाफ अधिकारी शामिल हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.