टीएमसी से नाराज चल रहे वनमंत्री राजीव बनर्जी के वन विभाग के 14 अधिकारियों की पदोन्नति रोकी गई

वनमंत्री राजीव बनर्जी के विभाग के 14 अधिकारियों की पदोन्नति रोकी गई।

तृणमूल कांग्रेस से नाराज चल रहे हैं राज्य के वनमंत्री राज्य सचिवालय ने बिना कोई कारण बताए पदोन्नति की फाइल को वापस भेजा। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राजीव बनर्जी के रवैये से बेहद खफा है और अब उन्हें तरजीह नहीं देना चाह रहीं।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 03:59 PM (IST) Author: PRITI JHA

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। तृणमूल कांग्रेस से नाराज चल रहे राज्य के वनमंत्री राजीव बनर्जी के विभाग के 14 अधिकारियों की पदोन्नति रोक दिए जाने की अटकलें हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार 14 अधिकारियों की पदोन्नति के लिए राजीव बनर्जी ने खुद वन विभाग को सिफारिश भेजी थी। राज्य सचिवालय नवान्न ने बिना कोई कारण बताए पदोन्नति की फाइल को वापस भेज दिया है, जिसकी वजह से 14 अधिकारियों की पदोन्नति अधर में लटक गई है।

गौरतलब है कि गत शनिवार को राजीव बनर्जी ने फेसबुक लाइव पर शिकायत करते हुए कहा था कि वे काम करना चाहते हैं लेकिन उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है। उन्हें 'जान-बूझकर' काम करने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी राजीव बनर्जी के रवैये से बेहद खफा है और अब उन्हें तरजीह नहीं देना चाह रहीं। इसी कारण उनकी सिफारिश के बावजूद उनके विभाग के पदाधिकारियों की पदोन्नति की फाइल को बैरंग लौटा दिया गया है।

गौरतलब है कि तृणमूल नेतृत्व की ओर से पिछले कुछ समय में राजीव बनर्जी को मनाने की काफी कोशिशें की गईं लेकिन वे सारी बेकार साबित हुईं। राजीव बनर्जी ने पार्टी की गतिविधियों से खुद को दूर कर लिया है। वे पार्टी की बैठकों में भी शामिल नहीं हो रहे इसलिए अब पार्टी नेतृत्व ने भी उन्हें तवज्जो देना बंद कर दिया है। यह उसी दिशा में कदम बताया जा रहा है। विश्लेषकों का कहना है कि इससे राजीव बनर्जी और तृणमूल के बीच कड़वाहट और बढ़ सकती है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.