West Bengal Assembly Election 2021: बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर मुसलमानों का भी रखा जाएगा पूरा ख्याल: पापिया अधिकारी

बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर मुसलमानों का भी रखा जाएगा पूरा ख्याल: पापिया अधिकारी। फाइल फोटो

West Bengal Assembly Election 2021 हावड़ा जिले की उलबेरिया दक्षिण विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी पापिया अधिकारी सबका साथ सबका विकास में विश्वास करती हैं। उनका कहना है कि वे उपनिषद् का अध्ययन करती हैं जो लोगों में भेदभाव करना नहीं सिखाता।

Sachin Kumar MishraSun, 18 Apr 2021 03:26 PM (IST)

कोलकाता। West Bengal Assembly Election 2021: टॉलीवुड अदाकारा व बंगाल के हावड़ा जिले की उलबेरिया दक्षिण विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी पापिया अधिकारी 'सबका साथ, सबका विकास' में विश्वास करती हैं। उनका कहना है कि वे उपनिषद् का अध्ययन करती हैं, जो लोगों में भेदभाव करना नहीं सिखाता। बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर हिंदुओं की तरह ही मुसलमानों का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा। पापिया से वरिष्ठ संवाददाता विशाल श्रेष्ठ ने खास बातचीत की। पेश है इसके मुख्य अंश।

बंगाल में महिलाओं की सुरक्षा बड़ा मुद्दा है। विरोधी दल, खासकर भाजपा इसे लेकर अक्सर ममता सरकार पर सवाल उठाती आई है। पिछले दिनों आप पर भी हमला हो चुका है। इस बारे में आप क्या कहेंगी?

बंगाल का माहौल ऐसा हो गया है कि यहां महिलाओं का सम्मान कोई मायने नही रखता। महिलाओं को पीटना आदत सी हो गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद अजीबोगरीब बर्ताव कर रही हैं। राजनीति जैसे बेहद गंभीर विषय को उन्होंने खेल समझ रखा है। उनका सत्ता से हटना बहुत जरूरी है।

भाजपा पर भी महिलाओं का सम्मान नहीं करने का आरोप लगता आया है। बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के ममता बनर्जी को लेकर बरमूडा संबंधी बयान पर एक महिला के तौर पर आप क्या कहेंगी?

मुझे उस बयान पर कुछ नहीं कहना है लेकिन ममता बनर्जी जिस तरह से जनता को अपना चोटिल पैर दिखा रही हैं, वह भी ठीक नही है।

भाजपा ने आपको तृणमूल के गढ़ में चुनाव लड़ने उतारा। अपनी जीत को लेकर कितनी आशान्वित हैं?

मुझे पूरी उम्मीद है क्योंकि लोग बदलाव चाहते हैं। चुनाव प्रचार के दौरान लोगों ने जिस तरह से मेरा अभिनंदन किया, उससे मुझे यह समझ आ गया था। उलबेरिया दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में पिछले 10 वर्षों में कोई विकास कार्य नहीं हुआ। वहां एक घाट तक नहीं है। सड़कों पर लाइट नहीं है। उद्योग बोलकर कुछ नहीं है। बस कटमनी चलती है।

बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए क्या किया जाएगा?

महिलाएं को आर्थिक तौर पर मजबूत करना बहुत जरुरी है ताकि वे दूसरों पर निर्भर न रहे। यह मेरी प्राथमिकता होगी। पुलिस थानों की संख्या बढ़ाई जाएगी। पुलिस की गश्त भी तेज की जाएगी।

भाजपा की सरकार बनने पर और क्या-क्या उम्मीद की जाए?

भाजपा की सरकार में सभी का ध्यान रखा जाएगा। सब बोलते हैं कि भाजपा सिर्फ हिंदुओं के लिए काम करती है जबकि हमारी पार्टी हिंदू-मुस्लिम में कोई फर्क नही करती। तीन तलाक बिल से मुस्लिम महिलाओं को बहुत फायदा हुआ है। बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर यहां रहने वाले मुसलमानों का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा। उनके कल्याण के लिए भी रोडमैप तैयार किया गया है। दो मई को चुनावी नतीजे आने के बाद सबकुछ सामने आ जाएगा।

टॉलीवुड में तृणमूल कांग्रेस की तानाशाही का आरोप लगता आया है। आप भी टॉलीवुड का हिस्सा रही हैं। इससे कितना इत्तेफाक रखती हैं?

बिल्कुल सही बात है। पिछले 10 वर्षों से टॉलीवुड में तृणमूल की तानाशाही चल रही है। कौन काम पाएगा और कौन नहीं, ये सब तृणमूल के नेता तय करते हैं। टॉलीवुड में तृणमूल का सिंडिकेट चल रहा है। मैं भी इसकी शिकार हुई हूं। मुझे इसी कारण काम नहीं मिला। दरअसल जो उन्हें सपोर्ट नहीं करते, उन्हें काम नहीं मिलता। मैं किसी से काम की भीख नहीं मांग सकती। इस तानाशाही को खत्म करने के लिए बदलाव जरुरी है। भाजपा की सरकार बनने पर किसी तरह का पक्षपात नहीं किया जाएगा। सबको उनकी प्रतिभा व क्षमता के मुताबिक काम मिलेगा।

प्रत्येक चरण के मतदान के साथ हिंसा की घटनाएं बढ़ती जा रही है? आखिर इसे कैसे नियंत्रित किया जाए?

बंगाल में चुनावी हिंसा पर लगाम कसने के लिए शिक्षा पद्धति में बदलाव लाना होगा। स्कूली पाठ्यक्रम में उपनिषद् को शामिल करना जरुरी है, तभी प्रेम व सहानुभूति की भावना उत्पन्न होगी। अभी लोगों के मन में एक-दूसरे के प्रति ईर्ष्या और क्रोध भरा हुआ है। पूरी दुनिया में उपनिषद् की पढ़ाई होती है तो बंगाल में क्यों नहीं? 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.