ऑक्सफोर्स यूनियन ने अंतिम समय में ममता का संबोधन रद किया, राज्य गृह विभाग ने ट्वीट करके दी गई जानकारी

1823 में स्थापित यह ब्रिटेन की सबसे पुरानी विश्वविद्यालय यूनियनों में से एक है। संबोधन होता तो पहली सीएम होतीं।

स्थगित-फिर से नई तिथि होगी निर्धारित- पहली बार भारत से किसी महिला राजनेता को डिबेट में किया गया है आमंत्रित। ममता को जुलाई में ही निमंत्रण दिया गया था। वहां के छात्रों द्वारा 600 प्रश्न ऑनलाइन भेजे। पहली बार यूनियन ने भारत से किसी महिला राजनीतिज्ञ को निमंत्रण दिया था।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 06:52 PM (IST) Author: Vijay Kumar

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बुधवार को प्रतिष्ठित ऑक्सफोर्ड यूनियन डिबेट को ऑनलाइन संबोधित करने का कार्यक्रम अंतिम समय में रद हो गया। बुधवार दोपहर 2.30 बजे उन्हें ऑक्सफोर्ड यूनियन को संबोधित करना था, लेकिन कार्यक्रम शुरू होने के ठीक पहले इसे रद कर दिया गया। राज्य के गृह विभाग ने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल के माध्यम से इसकी जानकारी दी। 

कार्यक्रम को फिर निर्धारित करने की बात कहीं

गौरतलब है कि यदि ममता का संबोधन होता तो वह ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला मुख्यमंत्री होतीं। पहली बार यूनियन की ओर से भारत से किसी महिला राजनीतिज्ञ को निमंत्रण दिया गया था। वहीं, गृह विभाग की ओर से बताया गया, आयोजकों ने अचानक अंतिम समय में कार्यक्रम स्थगित करने की सूचना दी और कार्यक्रम को फिर से निर्धारित करने की बात कहीं है।  

कुछ अप्रत्याशित कारणों से कार्यक्रम स्थगित

ऑक्सफोर्ड यूनियन डिबेटिंग सोसाइटी के प्रबंधन की ओर से टेलीफोन कर आग्रह किया गया कि कुछ अप्रत्याशित कारणों से कार्यक्रम को स्थगित किया जाता है। हालांकि आयोजकों ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। इधर, राज्य सचिवालय नवान्न के सूत्रों ने बताया कि इस डिबेट में मुख्यमंत्री राज्य सरकार की विभिन्न फ्लैगशिप योजनाओं जैसे कन्याश्री, रूपाश्री, कृषक बंधु आदि के बारे में बताने वाली थी। 

ममता को जुलाई में ही निमंत्रण दिया गया था

एक अधिकारी ने कहा कि बनर्जी को ऑक्सफोर्ड यूनियन की ओर से जुलाई में ही निमंत्रण दिया गया था। इस कार्यक्रम में पहले ममता को खुद उपस्थित होकर भाग लेना था लेकिन कोरोना के कारण बाद में ऑनलाइन संबोधन को कहा गया। इसमें ममता ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं के सामने अपनी बातें रखनी वाली थी। इसमें छात्र-छात्रा ममता से कुछ सवाल भी पूछते। 

वहां के छात्रों द्वारा 600 प्रश्न ऑनलाइन भेजे

इससे पहले ममता के पास वहां के छात्रों द्वारा 600 प्रश्न ऑनलाइन भेजा गया था। इसमें से कुछ का वह जवाब देतीं। गौरतलब है कि ऑक्सफोर्ड यूनियन सोसायटी, जिसे आम तौर पर ऑक्सफोर्ड यूनियन के रूप में जाना जाता है, इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड शहर में एक डिबेट करने वाला समाज है, जिसकी सदस्यता मुख्य रूप से ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से ली गई हैं। 

पुरानी विश्वविद्यालय यूनियनों में से एक है

1823 में स्थापित यह ब्रिटेन की सबसे पुरानी विश्वविद्यालय यूनियनों में से एक है। ऑक्सफोर्ड यूनियन में राजनीति, शिक्षा और लोकप्रिय संस्कृति में दुनिया के कुछ सबसे प्रमुख व्यक्तियों की मेजबानी करने की परंपरा है, जिनमें अमेरिकी राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन, जिमी कार्टर, रिचर्ड निक्सन और बिल क्लिंटन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल, मार्गरेट थैचर, डेविड कैमरन और थेरेसा मे, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान, तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा, मदर टेरेसा व महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना का नाम शामिल हैं, जो इसमें भाग ले चुके हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.