West Bengal: इंटरनेट मीडिया पर विज्ञापन देकर लगाया लाखों का चूना, चार गिरफ्तार

10 जून को लेकटाउन निवासी ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने जांच के बाद इंटरनेट मीडिया पर उसके नाम से अकाउंट चेक कर पता लगाया तो देवनारायण सिंह नाम के एक व्यक्ति के बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर दिए गए थे।

Priti JhaMon, 29 Nov 2021 11:41 AM (IST)
इंटरनेट मीडिया पर विज्ञापन देकर लगाया लाखों का चूना, चार गिरफ्तार

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कोलकाता सहित आसपास के इलाकों में इंटरनेट मीडिया पर विज्ञापनों के जरिए कंपनी का फ्रेंचाइची देने के नाम पर लाखों रुपये ठगने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। लेकटाउन पुलिस ने आरोपितों को हावड़ा, लिलुआ व गोलाबाड़ी थाने से गिरफ्तार किया है। रविवार को आरोपितों को विधाननगर अनुमंडल न्यायालय पेश किया गया। पुलिस ने आरोपितों को अपनी हिरासत में लेने की गुहार लगाई है।

पुलिस के अनुसार 10 जून को लेकटाउन के पातिपुकुर इलाके के रहने वाले राहुल भट्टाचार्य ने लेकटाउन थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी कि इंटरनेट मीडिया पर एक नामी कंपनी की फ्रेंचाइजी का विज्ञापन देखकर उन्होंने संपर्क किया था। उसके बाद उनके साथ धोखा हुआ है।

राहुल भट्टाचार्य के अनुसार इसके बाद उनसे कुछ जानकारी मांगी गई। उदाहरण के लिए बैंक पासबुक की फोटोकापी से लेकर कुछ दस्तावेज उन्हें सौंपे गए। इसके बाद कुछ पैसे की भी मांग की गई थी। कहा जा रहा है कि जल्द ही उन्हें फ्रेंचाइजी मिल जाएगी। हालांकि, उन्होंने बाद में और पैसे की मांग की और कहा कि जीएसटी के लिए इसकी आवश्यकता होगी। इस तरह राहुल भट्टाचार्य के बैंक खाते से कुछ और पैसे गायब हो गए। इसके बाद वह पुलिस के पास पहुंचे।

पुलिस ने जांच के बाद इंटरनेट मीडिया पर उसके नाम से अकाउंट चेक कर पता लगाया तो देवनारायण सिंह नाम के एक व्यक्ति के बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर दिए गए थे। जांचकर्ताओं ने बाद में उस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया, जिसकी पहचान लेकटाउन पुलिस स्टेशन के देवनारायण सिंह के रूप में हुई है। देवनारायण से पूछताछ के बाद तीन और लोगों के नाम सामने आए।

शनिवार की रात को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने शनिवार रात हावड़ा से मनु मिश्रा, सुनील दास और आफताब आलम को गिरफ्तार किया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपित इस तरह से तरह-तरह के विज्ञापन आनलाइन पोस्ट करता था और अगर किसी ने उस विज्ञापन को देखकर संपर्क करता था तो आरोपित उनका चूना लगा देते थे। उनका आरोप है कि पहले तो उन्होंने आवेदन शुल्क के 36 हजार रुपये लिए थे। अगली बार जब आप फ्रेंचाइजी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको एक निश्चित मात्रा में स्थान की आवश्यकता होती है, और यदि आपके पास पर्याप्त स्थान नहीं है, तो आप फ्रेंचाइजी नहीं दे सकते, ऐसा कहा गया था। बाद में कहा गया कि उन सभी समस्याओं के समाधान के लिए उन्हें बार-बार चक्कर लगाना पड़ेगा। जालसाजों पर इस तरह से साढ़े पांच लाख रुपये के गबन का आरोप लगाया गया है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.