Bengal Politcs: विस चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए कई टॉलीवुड कलाकार अब पार्टी से बनाकर चल रहे दूरी

फिल्मों में काम नहीं मिल पाने का सता रहा है डर टॉलीवुड पर सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस का राज चलने का लगता आया है आरोप। टॉलीवुड के कुछ ऐसे कलाकार हैं जो विस चुनाव हारकर भी बाजीगर बन गए हैं।

Priti JhaWed, 16 Jun 2021 02:19 PM (IST)
कई टॉलीवुड कलाकार अब पार्टी से बनाकर चल रहे दूरी

विशाल श्रेष्ठ, कोलकाता। विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए टॉलीवुड के कई कलाकार अब पार्टी से दूरी बनाकर चल रहे हैं। कारण, उन्हें फिल्मों में काम नहीं मिल पाने का डर सता रहा है। भाजपा में शामिल हुए टॉलीवुड अभिनेता रुद्रनील घोष व चर्चित अभिनेत्री पायल सरकार ने आरोप लगाया था कि टॉलीवुड पर सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस का राज चलता है।

रुद्रनील-पायल के अलावा अभिनेत्री श्राबंती चटर्जी व पर्णो मित्रा, अभिनेता यश दासगुप्ता समेत बांग्ला फिल्मों के कई नामचीन कलाकारों ने भाजपा का झंडा थामा था और चुनाव भी लड़ा था लेकिन सभी के सभी हार गए थे।

चुनाव बाद इनमें से कुछ ने पार्टी से दूरी बना ली है और फिलहाल इस बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं। दूसरी तरफ भाजपा भी अब इन्हें खास तवज्जो नहीं दे रही क्योंकि इन कलाकारों के जरिए वह जो लक्ष्य हासिल करना चाहती थी, वह हो नहीं पाया।

वरिष्ठ भाजपा नेता तथागत राय ने चुनाव हारने वाली अभिनेत्रियों को बताया था राजनीतिक तौर पर बेवकूफ

त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल व भाजपा के वरिष्ठ नेता तथागत राय ने हार के बाद इन कलाकारों को भाजपा की ओर से चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिए जाने पर ही सवाल उठा दिया था। उन्होंने चुनाव हारने वाली अभिनेत्रियों को राजनीतिक तौर पर बेवकूफ करार दिया था। पायल सरकार ने कोलकाता की बेहला पूर्व सीट से चुनाव लड़ा था। उन्हें तृणमूल प्रत्याशी व कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी की पत्नी रत्ना चटर्जी ने मात दी थी। वहीं बगल की बेहला पश्चिम सीट पर श्राबंती चटर्जी ने राज्य के मंत्री व तृणमूल के वरिष्ठ नेता पार्थ चटर्जी को चुनौती दी थी लेकिन उन्हें भी हार का मुंह देखना पड़ा था। उत्तर 24 परगना जिले की बरानगर सीट पर पर्णो मित्रा का भी यही हाल हुआ। उन्हें वरिष्ठ तृणमूल नेता तापस राय ने हराया। हुगली जिले की चंडीतल्ला सीट पर यश दासगुप्ता ने किस्मत आजमाया। उनके रोड शो में भीड़ तो खूब हुई लेकिन वे वोटों में तब्दील नहीं हो पाए और उन्हें तृणमूल की स्वाति खंडकार से हार झेलनी पडी़। मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी की सीट रही भवानीपुर पर राज्य के दिग्गज मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय के सामने रुद्रनील घोष टिक नहीं पाए।

कलाकार जो हारकर भी बन गए बाजीगर

टॉलीवुड के कुछ ऐसे कलाकार हैं, जो विस चुनाव हारकर भी बाजीगर बन गए हैं। इनमें सबसे पहला नाम सायोनी घोष का है। सायोनी ने आसनसोल दक्षिण विधानसभा सीट से तृणमूल के टिकट पर चुनाव लड़ा था। वहां उनका मुकाबला भाजपा की बंगाल महिला मोर्चा की अध्यक्ष व जानी-मानी फैशन डिजाइनर अग्निमित्र पाल से हुआ।कांटे की टक्कर में सायोनी महज 1,800 वोटों के अंतर से हार गई थीं लेकिन उनके जुझारूपन को देखते हुए ममता बनर्जी ने उन्हें बड़ा इनाम देते हुए सीधे युवा तृणमूल कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया। यह वह पद ह, जिसे पिछले कई वर्षों से अभिषेक बनर्जी संभालते आ रहे थे, जिन्हें ममता का उत्तराधिकारी कहा जाता है। सूत्रों का कहना है कि टॉलीवुड पर भी अब सायोनी की धाक जमने वाली है। मंजी हुई अभिनेत्री होने के बावजूद सायोनी की गिनती अब तक पहली श्रेणी की अभिनेत्रियों में नहीं होती है। इसी तरह हार के बावजूद अभिनेत्री सायंतिका बनर्जी व कौशानी मुखर्जी का भी टॉलीवुड में दबदबा बढ़ सकता है।

सायंतिका ने बांकुड़ा सीट से चुनाव लड़ा था और महज 2,059 वोट के अंतर से हारी थीं। दूसरी तरफ कौशानी मुखर्जी को तृणमूल ने कृष्णानगर उत्तर सीट से खड़ा किया थ। वहां उनका मुकाबला तत्कालीन भाजपा प्रत्याशी मुकुल रॉय से था। मुकुल वहां एक लाख से भी अधिक वोटों से जीते थे। मुकुल अब तृणमूल में लौट आए हैं। दूसरी तरफ तृणमूल के टिकट पर अभिनेता कांचन मल्लिक व फिल्म निर्देशक राज चक्रवर्ती ने चुनाव जीता है। सूत्रों का कहना है कि टॉलीवुड पर राज्य के मंत्री अरूप विश्वास और उनके भाई स्वरूप विश्वास का वर्चस्व है। आने वाले समय में बांग्ला फिल्मों व टीवी धारावाहिकों में किन्हें काम मिलेगा, इसमें पार्टी का झंडा भी काफी मायने रखेगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.