बंगाल में बाहर से आने वाले सभी का होगा आरटी-पीसीआर, ममता बनर्जी ने मंत्रिमंडल के नए सदस्यों के साथ की बैठक

ममता बनर्जी ने मंत्रिमंडल के नए सदस्यों के साथ की बैठक।

ममता हिंसा का जायजा लेने के लिए केंद्रीय टीम के बंगाल दौरे पर ममता ने फिर बोला हमला कहा- केंद्रीय टीम फैला रही है उत्तेजना बंगाल में लगातार तीसरी बार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंत्रिमंडल के नए सदस्यों के साथ बैठक की।

Priti JhaMon, 10 May 2021 08:10 AM (IST)

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को एक बार फिर ऐलान किया कि राज्य में आने वाले सभी लोगों (स्पेशल फ्लाइट से आने वाले या केंद्रीय टीम भी) को आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य रूप से कराना होगा। यदि टेस्ट रिपोर्ट पाजिटिव पाए जाते हैं, तो क्वॉरेंटाइन में भेजेंगे। ममता ने अपनी नवनिर्वाचित सरकार की पहली कैबिनेट की बैठक के बाद राज्य सचिवालय नवान्न में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। ममता ने इस बात को दोहराया कि अगर संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया तो इससे आम लोगों की रोजी-रोटी पर असर पड़ेगा। ममता ने केंद्र सरकार से एक बार फिर सभी के लिए मुफ्त टीकाकरण का अनुरोध किया।

ममता ने इसके साथ ही आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने तीन करोड़ वैक्सीन की मांग की है जबकि केंद्र ने महज एक लाख वैक्सीन ही दिया है। इससे कुछ नहीं होगा।उन्होंने केंद्र से अपील की कि वह वैक्सीन और ऑक्सीजन को लेकर अलग से एक राष्ट्रीय नीति बनाए।मुख्यमंत्री ने इसी के साथ बंगाल में सभी लोगों को मुफ्त में वैक्सीन देने का वादा फिर दोहराया। ममता ने कहा कि वैक्सीन की कमी के चलते अभी 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण यहां  शुरू नहीं होगा। सिर्फ 45 से ऊपर वाले लोगों को ही टीका लगाया जाएगा।

वहीं, चुनाव नतीजों के बाद हिंसा का जायजा लेने के लिए आई केंद्रीय टीम के दौरे को लेकर ममता ने एक बार फिर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह (भाजपा की केंद्रीय टीम) इधर-उधर घूमकर तनाव फैला रही रही है।ममता ने कहा कि राज्य में शांति कायम है और भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार हिंसा के बाद फर्जी वीडियो पोस्ट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। 

वादों को पूरा करने के लिए उच्च स्तरीय कमेटी गठित

वहीं, कैबिनेट की बैठक के दौरान चुनाव में किए गए वादों को पूरा करने के लिए मुख्य सचिव, गृह सचिव, उद्योग सचिव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को लेकर एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित करने का फैसला लिया गया।इसके अलावा कैबिनेट में और भी कई निर्णय लिए गए। राज्य सरकार विभिन्न जिलों में कई अंग्रेजी माध्यम स्कूल भी खोलेंगी, इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। 

शीतलकूची में नरसंहार का लगाया आरोप

संवाददाता सम्मेलन के दौरान ममता ने एक बार फिर से चुनाव के दौरान कूचबिहार जिले के शीतलकूची में हुई फायरिंग की घटना को नरसंहार बताते हुए भाजपा पर निशाना साधा। शीतलकूची में चौथे चरण की वोटिंग के दौरान ग्रामीणों के हमले के बाद केंद्रीय बलों द्वारा आत्मरक्षा में की गई फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई थी। ममता ने कहा कि भाजपा की केंद्रीय टीम अब शीतलकूची में जाकर तनाव को बढ़ावा दे रही है।उन्होंने फिर कहा कि बंगाल में सरकार गठन के 24 घंटे के अंदर ही केंद्रीय टीम भेज दिया गया, यह क्यों?उन्होंने कहा कि भाजपा को बंगाल की जनता का फैसला स्वीकार नहीं हो रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.