top menutop menutop menu

Eid ul-Fitr 2020: ममता व राज्यपाल ने ईद की दी बधाई, पहली बार रेड रोड पर नहीं हुआ कोई कार्यक्रम

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। मुस्लिमों के सबसे बड़े त्यौहार ईद के मौके पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को शुभकामनाएं दी। ममता ने ट्वीट कर कहा, 'सभी को ईद- उल- फितर की हार्दिक शुभकामनाएं। आएं हम इस महान त्योहार को घर पर रहकर ही मनाएं। यह मुश्किल घड़ी है, लेकिन मुझे विश्वास है कि हम इस चुनौती को भी पार कर लेंगे। आप सभी को मेरी बधाई व शुभकामनाएं।'

वहीं, राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अंग्रेजी और उर्दू में अलग-अलग ट्वीट कर ईद की बधाई दी। उन्होंने कहा, 'रमजान के पवित्र महीने के समापन पर मुसलमान प्रार्थना और प्रतिबिंब के माध्यम से ईद का त्योहार मनाते हैं।यह पवित्र दिन उन कम भाग्यशाली लोगों की मदद करने, भगवान में उनकी आस्था को मजबूत करने के लिए उनकी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करने का अवसर प्रदान करता है।'

दूसरी ओर, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के खौफ और लॉकडाउन ने इस बार ईद को फीका कर दिया। सूत्रों ने बताया कि कोलकाता सहित बंगाल के अधिकतर हिस्सों में लोगों ने अपने घरों में ही व छतों पर नमाज पढ़कर ईद मनाया। कोलकाता के ऐतिहासिक रेड रोड पर भी इस वर्ष पहली बार ईद पर कोई कार्यक्रम नहीं हुआ। हर साल यहां बड़े स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन होता था और हजारों की संख्या में लोग एकत्रित होकर एकसाथ यहां नमाज पढ़ते थे।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी हर साल यहां उपस्थित होती थी। इसके अलावा यह पहली बार है जब ईद के मौके पर कोलकाता सहित राज्य के ज्यादातर मस्जिदें भी बंद हैं। हर साल ईद पर मस्जिदों में रौनक देखते ही बनती थी। नए-नए कपड़ों में बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सुबह से ही मस्जिदों में नमाज पढ़ने के लिए जुट जाते थे और एक अलग ही खुशनुमा माहौल देखने को मिलता था। लेकिन, यह पहली बार है जब अपने घरों में ही रहकर लोग ईद की नमाज अदा किया।

नमाज में लोगों ने देश को इस बीमारी से निजात मिलने की दुआ भी की। इस बार ईद का नमाज पढ़ने का समय सुबह 7 बजे से पूर्वाहन 11:15 बजे तक था। इस बार ईद पर लोगों ने गले मिलने से भी परहेज किया। अधिकतर लोग शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए दूर से ही एक दूसरे को बधाई दी।

बता दें कि कोरोना के चलते बंगाल के विभिन्न मस्जिदों के इमाम सहित मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी पहले ही लोगों से इस बार घरों से ही ईद मनाने की अपील की थी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.