सीएम ममता बनर्जी ने उठाया सवाल, PM Cares Fund के करोड़ों रुपये कहां गए

PM Cares Fund ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा पीएम केयर्स फंड के तहत मिले धन के मामले में पूरी पारदर्शिता बरती जानी चाहिए। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री राहत कोष ( CM Relief Fund) का नियमित तौर पर ऑडिट होता है। पीएम-केयर्स फंड कोविड-19 के लिए बनाया गया था।

Babita KashyapSat, 25 Sep 2021 09:32 AM (IST)
ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम केयर्स फंड में पारदर्शिता बरती जानी चाहिए।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने कहा कि पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) के तहत मिले धन के मामले में पूरी पारदर्शिता बरती जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र का यह कहना निंदनीय है कि संबंधित ट्रस्ट कोई सरकारी कोष नहीं है। बनर्जी ने कहा कि केंद्र ने यह कह कर ‘‘हम सबको भ्रमित कर दिया है’’कि पीएम केयर्स फंड सरकारी कोष नहीं है। उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री राहत कोष का नियमित तौर पर ऑडिट होता है। पीएम-केयर्स फंड कोविड-19 के लिए बनाया गया था, लेकिन कल उन्होंने (केंद्र) अदालत को बताया कि यह सरकारी फंड नहीं है। सरकारी कर्मियों ने उसमें धन दान किया है, सीएसआर के जरिए धन दान किया गया है, लाखों-करोड़ों रुपये दान किए गए हैं। वह धन कहां है?

दरअसल, केंद्र ने दिल्ली उच्च न्यायालय को सूचित किया है कि पीएम-केयर्स फंड कोई सरकारी कोष नहीं है और संविधान तथा सूचना के अधिकार (आरटीआइ) अधिनियम के तहत इसके दर्जे के संबंध में किसी तीसरे पक्ष को सूचना नहीं दी जा सकती। बनर्जी ने भवानीपुर निर्वाचन क्षेत्र में एक चुनावी सभा में पेगासस मामले को लेकर भी केंद्र सरकार पर हमला बोला।

ममता ने कहा कि पूर्ववर्ती माकपा सरकार ने इतना अन्याय किया, क्या उसके खिलाफ कोई सीबीआइ या ईडी का केस दर्ज किया गया है? हमारी पार्टी इतनी बहादुरी से लड़ी, लेकिन उसे नहीं बख्शा जा रहा है। हमारे फोनों की पेगासस के जरिए निगरानी की जा रही है। बता दें कि भवानीपुर में 30 सितंबर को उफचुनाव होने हैं और ममता ताबड़तोड़ प्रचार में जुटीं हुईं हैं। ममता यहां से उम्मीदवार हैं और सीएम बने रहने के लिए उन्हें चुनाव जीतना जरूरी है। बताते चलें कि ममता इससे पहले भी पीएम केयर्स फंड को लेकर केंद्र पर हमलावर रही हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.