ममता पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप, भाजपा ने मुंबई में दर्ज कराई प्राथमिकी, सुवेंदु बोले- बंगालियों का सिर झुका

भाजपा ने बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगाया है। पार्टी के एक नेता की तरफ से इसके खिलाफ मुंबई के थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है।

Vijay KumarPublish:Thu, 02 Dec 2021 06:14 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 06:14 PM (IST)
ममता पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप, भाजपा ने मुंबई में दर्ज कराई प्राथमिकी, सुवेंदु बोले- बंगालियों का सिर झुका
ममता पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप, भाजपा ने मुंबई में दर्ज कराई प्राथमिकी, सुवेंदु बोले- बंगालियों का सिर झुका

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : भाजपा ने बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगाया है। पार्टी के एक नेता की तरफ से इसके खिलाफ मुंबई के थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है। भाजपा की तरफ से ट्वीट करके कहा गया कि मुंबई में एक कार्यक्रम में राष्ट्रगान शुरू होने के समय ममता बैठी हुई थीं। राष्ट्रगान के बीच में वह खड़ी हुईं और आधे से राष्ट्रगान गाना शुरू किया।

भाजपा ने प्रमाण के तौर पर ममता का उक्त कार्यक्रम का वीडियो भी ट्वीट के साथ अपलोड किया है। पार्टी ने कहा कि ममता ने न केवल राष्ट्रगान बल्कि राष्ट्र, बंगाल की संस्कृति व राष्ट्रगान के रचयिता गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर का भी अपमान किया है। बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि उनकी इस हरकत से बंगालियों का सिर शर्म से झुक गया है।

नपा चुनाव को लेकर अधिकारी परिवार को धमकाकर कोई लाभ नहीं होने वाला : सुवेंदु

सुवेंदु अधिकारी ने ममता को चुनौती देते हुए कहा कि कांथी नगरपालिका (नपा) के चुनाव को लेकर अधिकारी परिवार को धमकाकर कोई लाभ नहीं होने वाला है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु भी कुछ नहीं कर पाए थे। आप (ममता) उनसे ज्यादा शक्तिशाली नहीं हैं।

सुवेंदु ने कहा कि एक समय कांग्रेस के 403 सांसद थे। राजीव गांधी उस वक्त तीन हेलीकाप्टर के साथ कांथी आए थे। उनके मुंह से अधिकारी परिवार के खिलाफ बुलवाया गया था लेकिन लोगों ने उसपर विश्वास नहीं किया। 1995 में बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु कांथी आए थे। उस वक्त भी कांथी नपा का चुनाव अविभक्त कांग्रेस ने शिशिर अधिकारी की अगुआई में जीता था। वे भी उस वक्त पार्षद थे।