बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा- मां फ्लाइओवर परियोजना टीएमसी के शासनकाल में पूरी हुई, वाम मोर्चा सरकार इसे समय पर शुरू करने में नाकाम रही

कोलकाता के पूर्व महापौर भट्टाचार्य ने उत्तर प्रदेश सरकार के विज्ञापन पर उठे विवाद के बीच कहा था कि फ्लाईओवर के लिए न तो केंद्र की भाजपा सरकार और न ही राज्य की टीएमसी सरकार को श्रेय लेना चाहिए क्योंकि यह तत्कालीन वाम मोर्चा सरकार के दिमाग की उपज थी।

Priti JhaFri, 17 Sep 2021 09:28 AM (IST)
बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि यह ममता बनर्जी सरकार थी जिसने 'मां' फ्लाईओवर का निर्माण पूरा किया, जिसकी तस्वीर हाल में उत्तर प्रदेश सरकार के एक विज्ञापन में भूलवश छपी थी। मंत्री का बयान मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता बिकाश भट्टाचार्य के यह कहने के कुछ दिनों बाद आया है कि यहां 'मां' फ्लाईओवर का श्रेय किसी अन्य दल को नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इसकी कल्पना वाम मोर्चा सरकार के कार्यकाल के दौरान की गई थी।

कोलकाता के पूर्व महापौर भट्टाचार्य ने उत्तर प्रदेश सरकार के विज्ञापन पर उठे विवाद के बीच कहा था कि फ्लाईओवर के लिए न तो केंद्र की भाजपा सरकार और न ही राज्य की टीएमसी सरकार को श्रेय लेना चाहिए क्योंकि यह तत्कालीन वाम मोर्चा सरकार के दिमाग की उपज थी।

अपने दावों पर प्रकाश डालते हुए हकीम ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीकरण मिशन (जेएनएनयूआरएम) योजना के तहत फ्लाईओवर के लिए निविदा वर्ष 2009 में तत्कालीन वाम मोर्चा सरकार द्वारा जारी की गई थी। हालांकि, वे इसे समय पर शुरू करने में विफल रहे, जिससे इसकी लागत में भारी बढ़ोत्तरी हुई।

परिवहन मंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद ही फ्लाईओवर का काम जोर-शोर से शुरू हुआ। उन्होंने कहा कि 9.62 किलोमीटर लंबा यह फ्लाईओवर वर्ष 2015 में तैयार हो सका। हाकिम ने कहा, 'इस फ्लाईओवर का श्रेय लेने वाले तथ्य नहीं बता रहे हैं। उन्हें अपने रिकॉर्ड को अच्छी तरह से देखना चाहिए। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.