कोरोना के चलते बंगाल में 8 महीने बाद शुरू हुई लोकल ट्रेन सेवा, लोगों ने ली राहत की सांस

बंगाल में 8 महीने बाद शुरू हुई लोकल ट्रेन सेवा

कोरोना के चलते 22 मार्च से ही बंद था लोकल ट्रेनों का संचालन भीड़ संभालने के लिए अतिरिक्त रेक भी तैयार बंगाल में करीब आठ महीने बाद बुधवार सुबह से उपनगरीय लोकल ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू हो गया।

Preeti jhaWed, 11 Nov 2020 09:24 AM (IST)

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल में करीब आठ महीने बाद बुधवार सुबह से उपनगरीय लोकल ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू हो गया। पूरी तैयारी के बीच सियालदह, हावड़ा व खड़गपुर डिविजन के विभिन्न शाखाओं में लोकल ट्रेनों के फिर से पटरी पर दौड़ने से आम यात्रियों ने बड़ी राहत की सांस ली है। मालूम रहे कि कोरोना के चलते 22 मार्च से ही लोकल ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह से बंद था। इस दौरान सिर्फ रेलवे कर्मचारियों के लिए स्टाफ स्पेशल ट्रेनें चल रही थीं।

जानकारी के मुताबिक, शुरुआत में हावड़ा, सियालदह व खड़गपुर डिविजन में करीब 50 फीसद लोकल ट्रेनों का संचालन किया जाएगा।‌ ट्रेनों में यात्रा के लिए रेलवे और राज्य सरकार की ओर से कई दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। कोच के बीच वाली सीट पर यात्री को बैठने की अनुमति नहीं होगी। रेलवे की ओर से इन सीटों पर क्रॉस का चिन्ह लगाया गया है, ताकि यात्री उस सीट पर नहीं बैठ सकें। यात्रियों से वैकल्पिक सीटों का लाभ उठाने का आग्रह किया गया है।

पूर्व रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार, सियालदह डिवीजन में 413 व हावड़ा डिवीजन में 202 ट्रेनें चलेंगी, जबकि खड़गपुर डिविजन में 81 ट्रेनें चलेंगी। सियालदह डिवीजन के 413 ट्रेनों में 270 ट्रेनें सियालदह (मेन/नॉर्थ व सर्कुलर रेलवे) और 143 ट्रेनें सियालदह साउथ सेक्शन में चलेंगी। हावड़ा डिविजन में अप में 101 व डाउन में 101 ट्रेनें चलेंगी। वहीं खड़गपुर डिविजन में अप में 40 व डाउन में 41 ट्रेनें चलेंगी।

पीक आवर्स में 84 फीसद ट्रेनें चलाने का फैसला लिया गया है। 84 फीसद ट्रेनें सुबह आठ से 11 बजे तक और शाम 4.30 बजे से रात 8.30 बजे तक चलेंगी। ट्रेनों के स्टॉपेज की टाइमिंग में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यात्रियों के लिए प्रत्येक स्टेशनों पर बैनर व पोस्टर लगाये गये हैं। बिना मास्क पहने किसी को भी यात्रा की अनुमति नहीं होगी। इधर, लोकल ट्रेन सेवा शुरू होने से एक दिन पहले मंगलवार को हावड़ा के डीआरएम इशाक खान एवं सियालदह के डी आर एम एस पी सिंह ने तैयारियों का जायजा लिया था।‌

एक नजर -

- हावड़ा डिविजन में चलेंगी 202 ट्रेनें

- सियालदह डिविजन में चलेंगी 413 ट्रेनें

- खड़गपुर डिवीजन में चलेंगी 81 ट्रेनें

- प्रत्येक स्टेशन पर खुले रहेंगे टिकट काउंटर

- कोच के बीच वाली सीट पर बैठने की नहीं होगी अनुमति

- यात्रियों की भीड़ को संभालेगी आरपीएफ, जीआरपी व राज्य पुलिस

- बिना मास्क पहने यात्रियों पर होगी कड़ी नजर

- स्टेशनों पर होगी थर्मल गन से क्रमरहित (रैंडम) जांच

- ट्रेनों व स्टेशनों पर हॉकरों को जाने की नहीं होगी अनुमति 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.