फैसले का दिन: रोमा झवर अपहरण कांड में सजा की घोषणा आज, चार करार दिए गए हैं दोषी

अदालत में 16 साल मुकदमा चलने के बाद आज सुनाई जाएगी सजा 2005 में कालेज छात्रा का अपहरण कर फिरौती 20 लाख रुपये लिए गए थे। फिरौती की रकम मिलने के बाद इन चारों ने अपने एक साथी अरविंद प्रसाद के साथ विवाद के बाद उसका खून कर दिया था।

Priti JhaMon, 13 Sep 2021 11:31 AM (IST)
रोमा झवर अपहरण कांड में सजा की घोषणा आज,

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बहुचर्चित रोमा झवर अपहरण कांड में कोलकाता की अलीपुर अदालत आज सजा की घोषणा करेगी। अदालत ने चार लोगों को दोषी करार दिया है। उनके नाम गुंजन घोष, गुड्डू यादव, मुन्ना सिंह और मुकेश सिंह हैं। इस अपहरण कांड के 16 साल बाद आज दोषियों को सजा सुनाई जाएगी।

गौरतलब है कि 2005 में कोलकाता के साल्टलेक इलाके से रोमा झवर नामक कालेज छात्रा का अपहरण किया गया था और फिरौती के तौर पर 20 लाख रुपये लिए गए थे। फिरौती की रकम मिलने के बाद इन चारों ने अपने एक साथी अरविंद प्रसाद के साथ विवाद के बाद उसका खून कर दिया था। इस मामले में पप्पू नामक एक आरोपित अभी भी फरार है। गुंजन घोष अपहरण कांड का मास्टरमाइंड था।

गुंजन को इससे पहले दमदम के एक व्यवसायी के पुत्र मिथुन कोले और विश्वजीत दे नामक व्यक्ति की हत्या के मामले में अदालत उम्रकैद की सजा सुना चुकी हैं। रोमा झवर का 4 फरवरी, 2005 को कालेज जाते वक्त कार रोककर बंदूक की नोक पर अपहरण किया गया था। उसके परिवारवालों से 20 लाख रुपये की फिरौती मिलने के बाद उसे मुक्त कर दिया गया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार दिनों में ही अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद उनके खिलाफ अदालत में चार्जशीट पेश की गई। 

बंगाल में एक व्यक्ति की चोर समझकर पीट-पीटकर हत्या

बंगाल के मालदा जिले में नागपुर से अपने घर लौट रहे 24 वर्षीय प्रवासी कामगार की भीड़ ने चोर समझकर कथित रूप से पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि हरिश्चंद्रपुर थानांतर्गत पीपलतला गांव के लोगों के एक समूह ने शुक्रवार रात प्रताप मंडल को पकड़ा तथा रस्सी और लोहे की जंजीर से हाथ-पैर बांधे और बुरी तरह पीट दिया।

उन्होंने बताया कि नजदीकी मलियोर गांव के निवासी मंडल को पहले स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे चांचल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि वहां शनिवार रात उसकी मौत हो गई, उसके शव को रविवार को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया। हरिश्चंद्रपुर थाने के प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार दास ने कहा कि जांच जारी है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। पीड़ित की मां संजू मंडल ने दावा किया कि उनका बेटा चोर नहीं था। उन्होंने हत्यारों को कठोर दंड देने की मांग की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.